Tuesday, July 5, 2022
spot_img
Homeअंतर्राष्ट्रीयहथियारों के साथ 5 लोग घर में घुसे, पति को पीटकर रस्सी...

हथियारों के साथ 5 लोग घर में घुसे, पति को पीटकर रस्सी से बांधा फिर पत्नी से किया दुष्कर्म

Updated on 06/June/2022 5:04:20 PM

लाहौर। पाकिस्तान के पंजाब प्रांत से इंसानियत को शर्मसार करने वाली एक घटना सामने आई है। यहां पांच लोगों ने एक घर में घुसकर गर्भवती महिला के दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक,झेलम शहर में पांच हथियारबंद लोग ने घर में घुसकर मारपीट की और फिर पीड़िता के पति को रस्सी से बांध कर दुष्कर्म किया गया।

इस खबर के सामने आने के बाद सूबे में हड़कंप मंच गया है। पुलिस ने अपराधियों को पकड़ने के लिए धरपकड़ अभियान तेज कर दिया है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि गर्भवती महिला का मेडिकल टेस्ट किया गया है और उसके ब्लड सैंपल को भी फोरेंसिक जांच के लिए लाहौर भेज दिया गया है।

कराची में चलती ट्रेन में हैवानियत की गई
पिछले महीने 27 मई कराची की एक महिला के साथ चलती ट्रेन में सामूहिक बलात्कार किया गया था। कराची की रहने वाली लड़की रिश्तेदारों से मिलने मुल्तान गई थी। वहां किसी बात पर विवाद हुआ और लड़की रेलवे स्टेशन आकर कराची जाने वाली ट्रेन में बैठ गई।

लड़की के पास टिकट नहीं था। इसी दौरान दो टिकट चेकर आए। उन्होंने लड़की को भीड़ भरे जनरल कोच से AC कंपार्टमेंट में जाने को कहा। जब वो लड़की AC कंपार्टमेंट में गई तो वहां इन टिकट चेकर्स का इंचार्ज भी आ गया। इन तीनों ने लड़की से रेप किया।

पजाब में 6 महीने के दौरान 2,439 महिलाओं के साथ दुष्कर्म
पंजाब इनफार्मेशन कमीशन की रिपोर्ट के मुताबिक, सूबे में पिछले 6 महीने के दौरान कुल 2,439 महिलाओं के साथ बलात्कार किया गया। इसी दौरान ऑनर किलिंग के नाम पर 90 लोगों की हत्या की गई। पिछले साल की ‘ग्लोबल जेंडर गैप रिपोर्ट 2021’ के मुताबिक जेंडर इक्वलिटी के मामले में पाकिस्तान156 देशों की लिस्ट में 153वें पायदान पर है। रिपोर्ट में कहा गया है, ‘22,000 मामलों में केवल 77 आरोपियों को दोषी पाया गया और सजा की दर सिर्फ 0.3% है।’

आर्थिक तौर पर कंगाली की कगार पर पहुंचा पाकिस्तान
दूसरी तरफ पाकिस्तान की आर्थिक सेहत दिनों दिन बदतर होती जा रही है। पाकिस्तान का फॉरेन रिजर्व दहाई के आंकड़े से भी नीचे पहुंच गया है। 27 मई को फॉरेन रिजर्व महज 9.72 अरब डॉलर ही रह गए। इससे भी बड़ी दिक्कत यह है कि इंटरनेशनल मॉनेटरी फंड, यानी IMF ने अब तक कर्ज की तीसरी किश्त को हरी झंडी नहीं दी है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -spot_img