Wednesday, July 6, 2022
spot_img
Homeब्रेकिंग न्यूज़व्यापारी से 7 लाख के ब्याज के एवज में वसूल लिए 70...

व्यापारी से 7 लाख के ब्याज के एवज में वसूल लिए 70 लाख

Updated on 13/June/2022 1:20:34 PM

वाराणसी। वाराणसी के हथुआ मार्केट के दुकानदार से 33 लाख 50 हजार रुपये की रंगदारी मांगी गई है। पैसा नहीं देने पर अंजाम भुगतने की धमकी पर व्यापारी ने शनिवार को चेतगंज थाने में दो नामजद काशी सिंह और रमेश राय मटरू के खिलाफ रंगदारी सहित अन्य आरोपों में मुकदमा दर्ज कराया। पुलिस आयुक्त ने आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई का आदेश चेतगंज पुलिस को दिया है। आरोप है कि सात लाख रुपये ब्याज के एवज में दस गुना 70 लाख रुपये वसूले लिए और अब रंगदारी मांग रहे हैं।

चेतगंज थाना अंतर्गत हबीबपुरा सीताराम कुंज निवासी पीड़ित रविंद्र जायसवाल के अनुसार वर्ष 2007 में व्यवसायिक जरूरतों के लिए सात लाख रुपये तीन किश्त में नदेसर निवासी काशी सिंह से ब्याज के तौर पर लिया था। सिक्योरिटी के तौर पर कई सादे चेकों पर गवाह टेढ़ीनीम दशाश्वमेध निवासी अन्न गुप्ता, डोमरी पड़ाव निवासी प्रदीप खरे के समक्ष हस्ताक्षर कराया गया था।
‘पैसे नहीं हैं तो दुकान मेरे नाम करो’
आरोप है कि काशी सिंह ने सात लाख की वापसी के मद में 65 से 70 लाख रुपये वसूल लिए और इतनी धनराशि ब्याज के रूप में लेने के बावजूद काशी सिंह और चेतगंज निवासी रमेश राय उर्फ मटरू राय ने मेरा चेक कई बार मांगने के बाद भी नहीं दिया। दोनों ने 33 लाख 50 हजार रुपये और मांगे। कहा कि पैसे नहीं हैं तो दुकान मेरे नाम करो।

पीड़ित के अनुसार,अप्रैल 2022 के तीसरे एवं चौथे हफ्ते में काशी सिंह व रमेश राय उर्फ मटरू ने दो बार हथुआ मार्केट में धमकाया। गवाह के तौर पर जगतगंज निवासी राहुल सिंह, अन्न गुप्ता के सामने धमकी दी कि अब 20 लाख रुपये रंगदारी दो, वरना तुम्हारी हत्या करवा देंगे। इस दौरान काशी और मटरू ने धमकी के बाद कई सादे स्टांप पेपर पर हस्ताक्षर कराया।

धमकी दी कि पत्नी और बच्चों सहित तुमको मरवा देंगे। कुछ दिन के बाद नदेसर के पास फिर धमकी दी गई। पुलिस आयुक्त ए सतीश गणेश ने बताया कि जांच के दौरान मामला सही पाए जाने के बाद व्यापारी की मदद करने और काशी और मटरू राय के खिलाफ चेतगंज थाने में मुकदमा दर्ज कर सख्त कार्रवाई का आदेश दिया गया। डीसीआरबी के जरिए इन दोनों के आपराधिक इतिहास को भी खंगाला जा रहा है। आपराधिक घटनाएं सामने आने के बाद गैंगस्टर एक्ट के तहत भी मुकदमा दर्ज कराते हुए अपराध से अर्जित संपत्ति भी जब्त कराई जाएगी।

पीड़ित दुकानदार रविंद्र जायसवाल के अनुसार काशी सिंह और मटरू राय ने इतना प्रताड़ित किया है कि आर्थिक तौर पर टूट चुका हूं। मकान और पत्नी का आभूषण तक बिक गया। बावजूद काशी सिंह और मटरू रंगदारी की मांग करते हैं और न देने पर हत्या की धमकी देते हैं।

मटरू को कब्जा दिलाने में नप चुके हैं थानेदार व चौकी इंचार्ज
राजेश राय उर्फ मटरू की पुलिस और सफेदपोश में पैठ भी है। पिछले साल जुलाई 2021 में मटरू राय ने पिशाचमोचन में करोड़ों की विवादित जमीन पर हाथ डाला था। मटरू को अवैध रूप से जमीन पर कब्जा दिलाने के आरोप में तत्कालीन चेतगंज थाना प्रभारी संध्या सिंह,लहुराबीर चौकी प्रभारी अमित सिंह को पुलिस आयुक्त ने निलंबित कर दिया था। जबकि एसएसआई ओमप्रकाश सिंह लाइन हाजिर हुए थे। इसकी विभागीय जांच भी कराई गई।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -spot_img