Sunday, August 14, 2022
spot_img
Homeखेलधवन ने गांगुली,धोनी और कोहली समेत 13 खिलाड़ियों को छोड़ा पीछे

धवन ने गांगुली,धोनी और कोहली समेत 13 खिलाड़ियों को छोड़ा पीछे

Updated on 23/July/2022 8:54:54 PM

नई दिल्ली। भारत ने तीन वनडे मैचों की सीरीज के पहले मुकाबले में वेस्टइंडीज को तीन रन से हरा दिया। इस जीत के साथ ही टीम इंडिया ने सीरीज में 1-0 की बढ़त हासिल की। मैच में भारतीय कप्तान शिखर धवन नर्वस नाइंटीज का शिकार बने। वह सातवीं बार 90 या उससे ज्यादा रन बनाने के बाद शतक लगाने से चूके हैं। वहीं, श्रेयस अय्यर ने वनडे में अपने 1000 रन पूरे किए।

धवन वनडे में सबसे ज्यादा बार नर्वस नाइंटीज का शिकार होने वाले संयुक्त रूप से दूसरे भारतीय बल्लेबाज बन गए हैं। उन्होंने पूर्व कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन (सात बार) की बराबरी की है। धवन ने मौजूदा बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली समेत चार भारतीय खिलाड़ियों को पीछे भी छोड़ा। गांगुली, विराट कोहली, वीरेंद्र सहवाग और महेंद्र सिंह धोनी वनडे में छह-छह बार नर्वस नाइंटीज का शिकार हुए हैं। इस मामले में दुनिया में सचिन तेंदुलकर (18 बार) शीर्ष पर हैं।

धवन ने चार भारतीय खिलाड़ियों के अलावा कुल 13 खिलाड़ियों को पीछे छोड़ा है। गांगुली, कोहली, सहवाग और धोनी के अलावा न्यूजीलैंड के मार्टिन क्रो, ऑस्ट्रेलिया के डीन जोंस, वेस्टइंडीज के रिची रिचर्डसन, दक्षिण अफ्रीका के एबी डिविलियर्स, ऑस्ट्रेलिया के माइकल क्लार्क, एडम गिलक्रिस्ट, रिकी पोंटिंग, श्रीलंका के कुमार संगकारा और सनथ जयसूर्या छह-छह बार नर्वस नाइंटीज का शिकार हुए हैं।

सात बार नर्वस नाइंटीज में आउट होने वाले बल्लेबाजों में धवन और अजहरुद्दीन के अलावा न्यूजीलैंड के केन विलियमसन हैं। दक्षिण अफ्रीका के जैक कालिस आठ, श्रीलंका के अरविंद डीसिल्वा, न्यूजीलैंड के नाथन एस्टल और जिम्बाब्वे के एंडी फ्लावर नौ-नौ बार नर्वस नाइंटीज का शिकार हुए हैं।

वेस्टइंडीज के खिलाफ शुरुआती दो वनडे मैचों के लिए उपकप्तान बनाए गए श्रेयस अय्यर ने पहले मुकाबले में 54 रनों की पारी खेली। इस दौरान उन्होंने अपने 1000 रन पूरे कर लिए। उन्होंने अपनी 25वीं पारी में ऐसा किया है। सबसे कम पारियों में 1000 रन बनाने के मामले में उन्होंने भारत के नवजोत सिंह सिद्धू की बराबरी कर ली। भारतीय बल्लेबाजों में उनसे आगे शिखर धवन और विराट कोहली (24 पारी) आगे हैं। दुनिया भर में इस मामले में पहले स्थान पर पाकिस्तान के फखर जमां हैं। फखर जमां ने 18 पारियों में ही 1000 रन पूरे कर लिए थे।

भारत ने दोहराया इतिहास
भारतीय टीम इस मैच में 308 रन बनाने के बाद सिर्फ तीन रन से ही जीत सकी। 300 रन बनाने के बाद रनों के हिसाब से उसकी संयुक्त रूप से यह दूसरी सबसे छोटी जीत है। इससे पहले उसने 2009 में ऐसा किया था। तब श्रीलंका के खिलाफ 415 रन का लक्ष्य देने के बावजूद टीम इंडिया तीन रन से ही जीती थी। 2004 में पाकिस्तान के खिलाफ 349 रन बनाने के बाद पांच रन, 1998 में श्रीलंका के खिलाफ 307 रन बनाने के बाद छह रन और 2017 में न्यूजीलैंड के खिलाफ 337 रन बनाने के बाद छह रन से जीत मिली थी।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -spot_img