BRD मेडिकल कॉलेज में दिव्यांग की पिटाई:जूनियर डॉक्टरों ने दिव्यांग का गला दबाया

BRD मेडिकल कॉलेज में दिव्यांग की पिटाई:जूनियर डॉक्टरों ने दिव्यांग का गला दबाया
ख़बर को शेयर करे

गोरखपुर। गोरखपुर में BRD मेडिकल कॉलेज के​ जूनियर डॉक्टरों ने दिव्यांग तीमारदार की पिटाई कर दी। दिव्यांग यहां सर्जरी वार्ड में भर्ती अपनी चाची को देखने के लिए आया था। उसकी गलती सिर्फ इतनी थी कि उसने डॉक्टरों से मरीज के दवा-इलाज के बारे में पूछ लिया। इससे नाराज जूनियर डॉक्टरों ने दिव्यांग को कमरे में बंद कर पिटाई करने लगे। आरोप गला दबाने और आंख फोड़ने की कोशिश करने का है।

जिस वक्त BRD मेडिकल कॉलेज में यह सबकुछ हो रहा थी, उस वक्त वहां पुलिस भी मौजूद था। यहां मरीजों का कहना है कि एक बार पुलिस ने बीच-बचाव का प्रयास किया, लेकिन डॉक्टरों ने पुलिस वालों के साथ भी धक्का-मुक्की की।

5 डॉक्टरों के खिलाफ केस
किसी तरह डॉक्टरों से अपनी जान बचाकर दिव्यांग अजय थाने पहुंचा। पहले तो पुलिस ने मामले को मैनेज कराने की कोशिश करती रही। लेकिन, डॉक्टरों की गुंडई का वीडियो सामने आने के बाद पुलिस भी बैकफुट पर आ गई। 5 जूनियर डॉक्टरों के खिलाफ केस दर्ज किया। अजय की तहरीर पर गुलरिहा पुलिस ने डॉ. सुमित यादव, डॉ. प्रभात शाह,डॉ. अंकित सिंह लोधी, डॉ. साई प्रदीप और डॉ. आनंद प्रताप सिंह के खिलाफ मारपीट और मामूली धाराओं में केस दर्ज किया है।

भर्ती चाची को देखने आया था दिव्यांग अजय
दरअसल, देवरिया जिले के मदनपुर निवासी शैला देवी (65) पत्नी रामदेवान को गुरुवार को BRD मेडिकल कॉलेज के ट्रामा सेंटर के ऊपर स्थित POP वार्ड के सर्जरी विभाग में भर्ती कराया गया है। उनके पेट का ऑपरेशन हुआ है। शुक्रवार दोपहर मरीज शैला देवी का भतीजा अजय कुमार अपनी पत्नी सुनीता के साथ POP मेडिकल कॉलेज देखने आए थे। अजय बाएं पैर से दिव्यांग हैं।

इसे भी पढ़े   यहां 25 रुपए किलो बिक रहा प्याज,मची होड़

वीडियो बनाने से नाराज हुए डॉक्टर
यहां अजय जूनियर डॉक्टरों से दवा इलाज के बारे में पूछने लगे थे, इसी बात से नाराज होकर जूनियर डाक्टरों ने पहले उन्हें गाली देकर भगा दिया। तीमारदार ने गाली देने से मना किया तो जूनियर डॉक्टर धक्का देना शुरू कर दिया तो वह मोबाइल फोन से वीडियो बनाने लगा तो डाक्टरों ने मोबाइल फोन छिन लिया।

हॉस्टल से बुला ली डॉक्टरों की फौज
इसके बाद जूनियर डाक्टरों ने 20 से 25 की संख्या मे हॉस्टल से और जूनियर डाक्टरों को बुला लिया। इसके बाद तीमारदार को वार्ड से घसीटते हुए लात-जूतों, चप्पल व डंडे से मारते हुए सीढ़ी से घसीटते नीचे लेकर ट्रामा सेंटर जाने लगे। बीच बचाव करने पहुंची पत्नी सुनीता की भी जूनियर डाक्टरों ने पिटाई कर दी।

पुलिस के ऊपर भी उठाया हाथ
इसी बीच मेडिकल चौकी पुलिस पहुंची तो जूनियर डाक्टरों ने पुलिस के ऊपर भी हाथ छोड़ दिया और पुलिस की मौजूदगी में दिव्यांग की पिटाई करते रहे। किसी तरह पुलिस ने बीच बचाव कर पति पत्नी को गुलरिहा थाने पहुंचाया। गुलरिहा पुलिस दिव्यांग का मेडिकल परीक्षण के लिए भेज दी है। तीमारदार अजय छत्तीसगढ़ में पूरे परिवार के साथ रहता है और वहीं प्राइवेट जॉब करता है।

महिलाओं को लात और थप्पड़ मारे डॉक्टर
मारपीट होता देख बीच बचाव करने गए अन्य महिला तीमारदारों से भी जूनियर डॉक्टरों ने मारपीट की। महिलाओं को थप्पड़ और लात से मारा गया। इतना ही नहीं वीडियो को डिलीट नहीं करने पर मोबाइल फोन को छीन लिया गया।

आए दिन हो रही घटनाएं, लेकिन कार्रवाई नहीं
मेडिकल कॉलेज में आए दिन मारपीट की घटनाएं होती है, लेकिन पुलिस न तो सख्ती से कार्रवाई करती है और न ही कॉलेज प्रशासन ही कोई ऐसा कदम उठाता है, जिससे अंकुश लग सके।

इसे भी पढ़े   संजय राउत का फोन दो महीने तक हुआ टैप,असामाजिक तत्व की लिस्ट में थे शामिल

कमेटी कर रही जांच
BRD मेडिकल कॉलेज के प्रिंसपल डॉ. गणेश कुमार ने बताया, मारपीट का वीडियो सामने आया है। इस मामले में तीन शिक्षकों की जांच समिति गठित कर दी गई है। इस मामले में शामिल दो जूनियर डॉक्टरों को अग्रिम आदेश तक निलंबित कर दिया गया है। समिति की जांच रिपोर्ट के बाद और कठोर कार्रवाई होगी।


ख़बर को शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *