कस्टम मिलिंग घोटाला केस में ईडी का छापा,राजनांदगांव के राइस मिलर के घर मारी रेड

कस्टम मिलिंग घोटाला केस में ईडी का छापा,राजनांदगांव के राइस मिलर के घर मारी रेड
ख़बर को शेयर करे

राजनांदगांव। प्रवर्तन निदेशालय ( ईडी) ने कस्टम मिलिंग की प्रोत्साहन राशि में घोटाले को लेकर जांच तेज कर दी है। इसी के चलते शहर के अनुपम नगर स्थित टिल्लू अग्रवाल के घर पर छापा मारा है। कस्टम मिलिंग मामले में ईडी ने जून महीने में दूसरी बार रेड मारी थी। ईडी की टीम देर रात तक दस्तावेज खंगालने का काम करती रही।

दरअसल, छत्तीसगढ़ में कस्टम मिलिंग में घोटाले का मामला सामने आया था। इसके बाद ईडी इस पर कार्रवाई कर रही है। इसी के चलते इससे टिल्लू अग्रवाल के ऊपर कार्रवाई हुई है। टिल्लू राइस मिल एसोसिएशन के कोषाध्यक्ष हैं और उनकी मिल छुरिया में है। टिल्लू अग्रवाल के साथ टीम ने एक और व्यापारी के घर भी ईडी ने दबिश दी है।

6 सदस्यीय टीम ने मारा छापा
लगभग छह अधिकारियों का दल मिलर के घर पर सुबह छह बजे से जांच में जुट गई। बता दें कि प्रदेश में एक सप्ताह के भीतर ईडी की यह दूसरी रेड है। देर रात को व्यापारी के घर से निकली टीम अपने साथ डॉक्यूमेंट लेकर निकली है। हालांकि इसकी जानकारी मीडिया को नहीं दी गई है कि उन्हें क्या मिला है। अंदाजा लगाया जा रहा है कि राईस मिल एसोसिएशन के अध्यक्ष मनोज अग्रवाल के यहां मिले डॉक्यूमेंट के आधार पर ये रेड की गई है।

इसलिए ईडी ने मारी रेड
बताया जा रहा है कि वर्ष 2021-22 में कस्टम मिलिंग की प्रोत्साहन राशि के एवज में मिलर्स से प्रति क्विंटल 20 रुपये की जो वसूली की गई थी, उसमें टिल्लू भी शामिल था। वहीं से एकत्र राशि नागरिक आपूर्ति निगम के तत्कालीन एमडी मनोज सोनी तक पहुंचाई गई थी। इस मामले में तत्कालीन मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का भी नाम है। इसकी जांच ईडी के साथ ही एसीबी भी कर रही है।

इसे भी पढ़े    भूत-प्रेत संग झूमे और खेली चिता भस्म से होली, हरिश्चंद्र घाट पर उमड़ा हुजूम

इस महीने में दूसरी रेड
इसके पहले जिला राईस मिल एसोसिएशन के अध्यक्ष मनोज अग्रवाल के डोंगरगढ़ स्थित निवास पर ईडी ने रेड की थी। टीम ने आठ और नौ जून को दबिश देकर दस्तावेजों की जांच की थी। वहां से दस्तावेजों की दो पोटली जब्त कर रायपुर ले जाया गया था। हालांकि जांच में क्या मिला, इसकी जानकारी आधिकारिक तौर पर नहीं दी गई।


ख़बर को शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *