क्या दूध में मिलाया जाता है डिटर्जेंट? एक शख्स ने शेयर की पूरी कहानी

क्या दूध में मिलाया जाता है डिटर्जेंट? एक शख्स ने शेयर की पूरी कहानी
ख़बर को शेयर करे

नई दिल्ली। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स के एक यूजर ने भारत के कुछ इलाकों में दूध में डिटर्जेंट इस्तेमाल किए जाने का चौंकाने वाला खुलासा किया है। राहुल नाम के इस शख्स ने वायरल हो चुकी पोस्ट में बताया कि कुछ दूध वाले दूध को गाढ़ा और ज्यादा सफेद दिखाने के लिए उसमें डिटर्जेंट मिलाते हैं। राहुल एक बिजनेसमैन हैं और पहले वो लिक्विड डिटर्जेंट बनाने का काम करते थे। साल 2005 में उन्हें उनके एक सेल्स एग्जिक्यूटिव ने ये चौंकाने वाली मिलावट की बात बताई थी। उस सेल्स एग्जिक्यूटिव ने बताया कि कई ग्राहक खास तौर पर दूध में मिलाने के लिए लिक्विड डिटर्जेंट खरीद रहे थे।

ढूंढते हैं कम खुशबू वाला डिटर्जेट
इतना ही नहीं, उनकी एक दूसरी कंपनी भी कुछ कम खुशबू वाला ऐसा ही प्रोडक्ट बेच रही थी। उस शख्स ने खाने की सुरक्षा के बारे में चौंकाने वाला वाकया बताया है। उसने लिखा,”कुछ साल पहले,मैं एक बड़ी कंपनी में काम करता था। वहां लिक्विड डिटर्जेंट लॉन्च हुआ था। एक सेल्स का बंदा मेरे पास आया और बोला कि अगर खुशबू कम होती तो ज्यादा बिकता। मैंने पूछा कि क्या ग्राहकों को खुशबू ज्यादा लग रही है? तो उसने बताया कि नहीं, असल में बहुत से लोग दूध में मिलाने के लिए लिक्विड डिटर्जेंट खरीदते हैं।” पोस्ट पर कई सारे लोगों ने प्रतिक्रियाएं दी।

पोस्ट पर लोगों ने दी ढेर सारी प्रतिक्रिया
एक यूजर ने लिखा, “कितनी खुशी की बात है कि मुझे शुद्ध दूध मिल जाता है।” दूसरे ने कहा,”भारत में सरकार और खासकर स्वास्थ्य विभाग ऐसे खाने के धोखेबाजी के बारे में अनजान होने का नाटक क्यों करते हैं?” एक शख्स ने पूछा,”कृपया बताएं ये कौन से बाजार हैं?” एक यूजर का कहना था, “डिटर्जेंट बिना ठंडा किए और बिना पाश्चुराइज्ड दूध में बैक्टीरिया से बनने वाले एसिड को भी कम करने में मदद करता है।” एक व्यक्ति ने लिखा, “ऐसा ही स्ट्रीट फूड के साथ भी होता है,जो जहरीले चिकन वेस्ट और रंग और खुशबू बढ़ाने के लिए रासायनिक फ्लेवर से बनता है।”

इसे भी पढ़े   हेमा मालिनी ने मेट्रो में की सवारी,हैरान करने वाला था लोगों का रिएक्शन

ख़बर को शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *