Sunday, August 14, 2022
spot_img
Homeराज्य की खबरें'राष्ट्रपत्नी टिप्पणी' को लेकर भड़के विवाद के बीच शाह ने राष्ट्रपति द्रौपदी...

‘राष्ट्रपत्नी टिप्पणी’ को लेकर भड़के विवाद के बीच शाह ने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू से की मुलाकात

Updated on 29/July/2022 6:05:51 PM

नई दिल्ली। कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी की ‘राष्ट्रपत्नी’ विवादित टिप्पणी के बीच केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने राष्ट्रपति भवन में दौरा किया और नवनिर्वाचित राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू से मुलाकात की है। अमित शाह की राष्ट्रपति मुर्मु से मुलाकात की एक तस्वीर को ट्वीट करते हुए भारत के राष्ट्रपति के आधिकारिक अकाउंट ने लिखा, “केंद्रीय गृह मामलों और सहकारिता मंत्री अमित शाह ने राष्ट्रपति भवन में राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु से मुलाकात की।”

इससे पहले सुबह, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने राष्ट्रपति से उनके दो विभागों के राज्य मंत्रियों- महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री महेंद्र मुंजपारा और अल्पसंख्यक मामलों के राज्य मंत्री जॉन बारला के साथ दौरा किया। ईरानी ने गुरुवार को लोकसभा में द्रौपदी मुर्मु के अपमान की घटना को उठाया और विपक्ष की नेता और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से माफी मांगने की मांग की। इससे सदन की कार्यवाही स्थगित होने के कुछ ही देर बाद स्मृति ईरानी और सोनिया गांधी के बीच तीखी नोकझोंक हो गई।

अधीर रंजन चौधरी ने बुधवार को राष्ट्रपति मुर्मू पर टिप्पणी की और उन्हें ‘राष्ट्रपत्नी’ कहा,जब वह ईडी द्वारा सोनिया गांधी से पूछताछ के खिलाफ कांग्रेस के विरोध के बारे में एक साक्षात्कार दे रहे थे।

अधीर रंजन चौधरी ने छेड़ी बहस
बुधवार को ईडी द्वारा सोनिया गांधी से पूछताछ का विरोध करते हुए मीडिया से बात करते हुए अधीर रंजन चौधरी ने मुर्मू को दो बार ‘राष्ट्रपत्नी’ कहकर संबोधित किया लेकिन तीसरे मौके पर ‘राष्ट्रपति’ का इस्तेमाल किया। यहां तक ​​कि जब एक पत्रकार ने उन्हें सही किया तो भी उन्होंने अपनी टिप्पणी वापस नहीं ली। दिन में जब मीडिया से इसका सामना हुआ, तो लोकसभा में विपक्ष के नेता ने स्पष्ट रूप से माफी मांगने से इनकार कर दिया।

अधीर रंजन चौधरी ने कहा,”मैं बीजेपी से माफी क्यों मांगूं? मैंने गलती से एक शब्द कहा। मैंने कल कई पत्रकारों से बात की। मैंने ऐसा कभी नहीं किया। मैंने पहले ‘राष्ट्रपति’ कहा और फिर ‘राष्ट्रपत्नी’ कहा। माफी मांगने का कोई सवाल ही नहीं है। उन्होंने विस्तार से कहा,”यह डिफ़ॉल्ट रूप से एक गलती है। सत्ताधारी दल जानबूझकर एक तिल से पहाड़ बनाने की कोशिश कर रहा है। यह दुर्भाग्यपूर्ण है। मेरा वीडियो देखें। मैंने एक बार डिफ़ॉल्ट रूप से गलती की है। तो,मुझे क्या करना चाहिए? अगर तुम मुझे फांसी देना चाहते हो, ऐसा करो। लेकिन भाजपा ने जो कहा है उससे मेरा कोई लेना-देना नहीं है।”

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -spot_img