Tuesday, January 31, 2023
spot_img
Homeपॉलिटिक्सशहबाज शरीफ बोले- भारत से तीन युद्ध में मिल गया सबक, शांति...

शहबाज शरीफ बोले- भारत से तीन युद्ध में मिल गया सबक, शांति चाहता हूं

अबू धाबी । भारत को बार-बार हमले की धमकी देने वाले पाकिस्तान की आज पूरी हेकड़ी निकल गई है। अपने सबसे बुरे आर्थिक दौर से गुजर रहे पाकिस्तान के तेवर अब ढीले पड़ गए हैं। पड़ोसी मुल्क आज शांति की बातें कर रहा है। पाक पीएम शहबाज शरीफ का एक बयान सामने आया है। अपने बयान में शरीफ के सुर बदले-बदले दिख रहे हैं।

भारत के साथ तीन युद्ध के बाद सीखा सबक
शहबाज शरीफ ने कहा है कि पाकिस्तान ने भारत के साथ तीन युद्धों के बाद सबक सीख लिया है। पाकिस्तान अब अपने पड़ोसी के साथ शांति चाहता है। ANI के मुताबिक, दुबई स्थित अल अरबिया टीवी को दिए गए इंटरव्यू में उन्होंने देश के पीएम नरेंद्र मोदी के साथ कश्मीर मुद्दे पर बातचीत की अपील भी की। हालांकि, ये इंटरव्यू कितना पुराना है, इसकी पुष्ट जानकारी नहीं है।

शरीफ ने इंटरव्यू में कहा, “भारतीय नेतृत्व और प्रधानमंत्री मोदी को मेरा संदेश है कि आइए टेबल पर बैठें और कश्मीर जैसे बिंदुओं को हल करने के लिए गंभीर और ईमानदार बातचीत करें। यह हमारे ऊपर है कि हम शांति से रहें और विकास करें या एक-दूसरे के साथ झगड़ा करें और समय और संसाधन बर्बाद करें।”

पड़ोसी के साथ शांति से रहना चाहते हैं
शरीफ ने भी कहा कि भारत के साथ अब तक हमारे तीन युद्ध हो चुके हैं। हर युद्ध में लोगों को सिर्फ दुख, गरीबी और बेरोजगारी मिली हैं। हमने अपना सबक सीख लिया है और हम भारत के साथ शांति से रहना चाहते हैं। शरीफ ने आगे कहा कि भले ही हम पसंद से पड़ोसी न हों, लेकिन हम हमेशा के लिए वहां हैं। ये हम पर है कि हम शांति से रहें और प्रगति करें या एक-दूसरे से झगड़ा करें और समय और संसाधन बर्बाद करें।

कश्मीर का मुद्दा भी उठाया
शरीफ ने इंटरव्यू में कश्मीर का मुद्दा भी उठाया। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान शांति चाहता है, लेकिन कश्मीर में जो कुछ हो रहा है, वो बंद होना चाहिए।

भारत पाकिस्तान के बीच कब-कब हुए युद्ध
पाकिस्तान, भारत के साथ हुए जिन तीन युद्ध को लेकर पछता रहा है, उनके बारे में हम आपको बताते हैं।

भारत-पाकिस्तान 1965 का युद्ध

भारत और पाकिस्तान के बीच पहला युद्ध 1965 में लड़ा गया। यह युद्ध पाकिस्तान के ऑपरेशन जिब्राल्टर के बाद शुरू किया गया था। 17 दिनों तक चले इस युद्ध में कई सैनिक मारे गए थे। तत्कालीन सोवियत संघ और अमेरिका के हस्तक्षेप के बाद ताशंकद घोषणा के द्वारा युद्ध विराम की घोषणा की गई।

1971 में पाकिस्तान ने मुंह की खाई

भारत और पाकिस्तान के बीच 1971 में भी एक युद्ध लड़ा गया। इस युद्ध के बाद ही एक नए देश बांग्लादेश का जन्म हुआ। इस युद्ध में पाकिस्तान को मुंह की खानी पड़ी थी। 90 हजार से अधिक पाकिस्तानी सैनिकों ने भारतीय सेना के सामने आत्मसमर्पण किया था।

भारत ने करगिल युद्ध में भी धूल चटाई

भारत और पाकिस्तान के बीच 1999 में करगिल युद्ध लड़ा गया था। पाकिस्तानी सैनिकों ने वास्तविक नियंत्रण रेखा यानी एलओसी के पार घुसपैठ कर दी थी। इस युद्ध में 4 हजार से ज्यादा पाकिस्तानी सैनिक मारे गए थे।UYJH67

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -spot_img