Friday, October 7, 2022
spot_img
Homeराज्य की खबरेंगोरखपुर जिला अस्पताल के मोर्चरी में युवक के शव को चूहे ने...

गोरखपुर जिला अस्पताल के मोर्चरी में युवक के शव को चूहे ने कुतरा

Updated on 21/September/2022 4:51:35 PM

गोरखपुर। यूपी के गोरखपुर में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों की लापरवाही ने सभी को हैरान कर दिया है। जिला अस्पताल की कुर्व्यवस्था का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि मोर्चरी में रखे गए युवक के शव को चूहे ने कुतर दिया। जिला अस्पताल में शव के चेहरे और नाक को कुतरे जाने की घटना के बाद से हड़कंप मच गया है। मोर्चरी में शव को चूहों द्वारा कुतरने की यह पहली घटना नहीं है। कुछ साल पहले भी दो बार इस तरह की घटना हो चुकी है।

दुर्घटना में गई थी दो युवकों की जान
गोरखपुर के रामगढ़ताल थाना क्षेत्र के सेंदुली-बेंदुली गांव के रहने वाले सुमित गौड़ और महबूब सिद्दीकी गांव में दुर्गा पूजा में प्रतिमा बैठाने की तैयारी कर रहे थे। गांव में लगे बरसात के पानी को निकालने के लिए गांव के छह लोग मंगलवार की शाम 4 बजे पिक-अप से पम्पिंग सेट लेने के लिए गए थे। इस पर सुमित और महबूब भी सवार था। खोराबार थाना क्षेत्र के जगदीशपुर फोरलेन पर पिक-अप हादसे का शिकार होकर पलट गई। पिक-अप में सवार छह लोग गंभीर रूप से घायल हो गए।आनन-फानन में घायलों को जिला चिकित्‍सालय लाया गया। महबूब और सुमित को मृत घोषित कर दिया गया। दोनों का शव मोर्चरी में रखा गया था।

परिवार ने लगाया आरोप
मृतक महबूब के भाई पन्‍नू सिद्दीकी और सुमित के पड़ोसी राहुल ने बताया कि रात में चूहों ने सुमित के शव के चेहरे और नाक को कुतर डाला। सुबह जब वे लोग शव को पोस्टमार्टम के लिए लेने के लिए आए, तो देखा कि चेहरे और नाक को चूहों ने कुतर डाला था। इसकी शिकायत करने के लिए वे सीएमओ के पास गए, लेकिन उन्‍होंने मिलने से मना कर दिया। परिजनों का कहना है कि पहले तो सीएमओ नेक मिलने से मना कर दिया। इसके बाद बताया कि डी-फ्रीजर चल रहा है। लेकिन,राजू नाम के कर्मचारी ने बताया कि शव बाहर रखा था। डी-फ्रीजर खराब है। कर्मचारियों ने परिजनों को बताया कि यहां अक्सर इस तरह की घटना होती रहती है।

सीएमओ ने दी यह जानकारी
गोरखपुर के सीएमओ आशुतोष कुमार दुबे ने बताया कि दुर्घटना में घायल दो युवकों के शवों को मोर्चरी में रखा गया था। उन्‍हें चूहों के द्वारा कुतरने की बात परिजनों ने बताई है। उन्‍होंने बताया कि एडिशनल सीएमओ डॉ. एके चौधरी और डॉ. नंद कुमार के नेतृत्‍व में जांच कमेटी बनाई गई है। उन्‍होंने बताया कि ये गंभीर लापरवाही का मा्मला है। उन्‍होंने जेई से बात की है। जेई ने बताया है कि डी-फ्रीजर सही है। शव को बाहर जमीन पर रखा गया था। इसी वजह से चूहों ने शव के चेहरे और नाक को कुतर दिया। इसकी जांच कराई जा रही है। दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -spot_img