Thursday, May 26, 2022
spot_img
Homeराज्य की खबरेंकोतवाली गोलीकांड के मुख्य आरोपी ने किया सरेंडर

कोतवाली गोलीकांड के मुख्य आरोपी ने किया सरेंडर

Updated on 07/May/2022 4:58:03 PM

गोरखपुर। कोतवाली इलाके के दुर्गाबाड़ी में 25 अप्रैल की रात हुए गोलीकांड के मुख्य आरोपी अभिषेक पासवान ने शुक्रवार को कोर्ट में सरेंडर कर दिया। उसके बाद कोर्ट ने उसे जेल भेज दिया। पुलिस उसके घर पर लगातार दबिश दे रही थी। अभी तक इस मामले में कसया कुशीनगर के आहेल उर्फ नसीमुद्दीन,बेनीगंज कोतलवाली निवासी सहनवाज, अभिषेक पासवान समेत चार आरोपी जेल जा चुके हैं। वहीं कोतवाली के छोटे काजीपुर निवासी अनिकेत सिंह समेत तीन आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हुई है। आरोपी अनिकेत भी गोलीकांड में घायल हो गया था। उसका इलाज मेडिकल कॉलेज में चल रहा है।

उधर, अनिकेत के पिता दुर्गेश कुमार सिंह ने बेटे को निर्दोष बताया है। उनका कहना है कि उनके बेटे को गोली लगी है और पुलिस अब उनका केस नहीं दर्ज कर रही है। उनका कहना है कि बेटे का आरोपियों का कोई संबंध नहीं है। यहां बता दें कि कोतवाली के दुर्गाबाड़ी तरंग क्रासिंग के पास एक अंडे की दुकान पर छात्रों के दो गुटों में विवाद हुआ था। एक पक्ष से पहुंचे अंडा विक्रेता अभिषेक पासवान ने फायरिंग कर दी थी। जिसमें तीन लोग घायल हुए थे। पुलिस ने बताया था कि प्राइवेट कंपनी के सेल्समैन जटाशंकर पोखरा निवासी शंकर चौधरी का बेटा शनि इंटर का छात्र है। वह एक कोचिंग सेंटर में पढ़ने जाता है। वहां पर एक लड़की को लेकर एक गुट ने उसे पीट दिया था। इसी को लेकर 25 अप्रैल की रात गोली चली थी। अभिषेक के साथ अनिकेत सिंह भी था। गोली से अनिकेत सिंह, शंकर चौधरी व शाहनवाज घायल हो गए थे।

शिव चौधरी के तहरीर पर दर्ज हुआ था केस
पुलिस ने शिव चौधरी निवासी जटाशंकर पोखरा की तहरीर पर मुख्य आरोपी अभिषेक पासवान, घायल अनिकेत सिंह, शाहनवाज, अहिल उपाध्याय, रवि उपाध्याय, आलोक, राजवीर के खिलाफ केस दर्ज किया था। शुक्रवार को घायल आरोपी अनिकेत सिंह के पिता ने प्रेस कांफ्रेंस कर बताया कि उनके बेटे का आरोपियों से कोई संबंध नहीं है। उसे भी गोली लगी है। आरोप है कि वह भी पुलिस को तहरीर दिए हैं लेकिन उनकी तहरीर पर केस दर्ज नहीं हुआ। इंस्पेक्टर कोतवाली कल्यान सागर ने कहा कि अनिकेत मुकदमें का आरोपी है। मुख्य आरोपी के साथ वह भी आया था। चूंकि वह घायल है इसलिए उसे अभी गिरफ्तार नहीं किया गया है। उसके घरवाले अब पेशबंदी में केस दर्ज कराना चाहते हैं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -spot_img