Tuesday, January 31, 2023
spot_img
Homeब्रेकिंग न्यूज़Gautam Adani की ये कंपनी बंपर डिस्काउंट पर बेचने जा रही शेयर

Gautam Adani की ये कंपनी बंपर डिस्काउंट पर बेचने जा रही शेयर

नई दिल्ली । Gautam Adani के नेतृत्व वाले अदाणी समूह ने हरित ऊर्जा और हवाई अड्डे के विस्तार के लिए 20,000 करोड़ रुपये जुटाने के लिए भारत के सबसे बड़े फॉलो-ऑन शेयर बिक्री का ऑफर दिया है। समूह ने 10-15 प्रतिशत की छूट पर शेयरों की पेशकश की है।

अदाणी एंटरप्राइजेज लिमिटेड (एईएल) फॉलो-ऑन पब्लिक ऑफर (एफपीओ) में 3,112 रुपये से 3,276 रुपये के प्राइस बैंड में शेयर बेचेगी, जो 27 जनवरी को खुलने और 31 जनवरी को बंद होने की उम्मीद है। ऑफर प्राइस बुधवार को बीएसई पर स्टॉक के 3,595.35 रुपये के क्लोजिंग प्राइस से कम है।

क्या है कंपनी का प्लान
एफपीओ की 20,000 करोड़ रुपये की आय में से 10,869 करोड़ रुपये का उपयोग हरित हाइड्रोजन परियोजनाओं, मौजूदा हवाई अड्डों पर काम और ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे के निर्माण के लिए किया जाएगा। अन्य 4,165 करोड़ रुपये उसके हवाई अड्डों, सड़क और सौर परियोजना सहायक कंपनियों द्वारा लिए गए कर्ज के रीपेंट के लिए किया जाएगा।

अदाणी समूह का फैलता साम्राज्य
अदाणी समूह ने तेजी से अपने विस्तार करते हुए बंदरगाहों और कोयला खनन पर केंद्रित अपने कारोबार का विस्तार करते हुए इसमें हवाई अड्डों, डाटा केंद्रों और सीमेंट के साथ-साथ हरित ऊर्जा को भी शामिल किया है। अदाणी एंटरप्राइजेज लिलिटेड (एईएल) भारत का सबसे बड़ा सूचीबद्ध व्यापार इनक्यूबेटर है। ये चार प्रमुख उद्योग क्षेत्रों- ऊर्जा और यूटिलिटी, परिवहन और रसद, उपभोक्ता और प्राथमिक उद्योग में कई व्यवसायों की हेंडलिंग करता है।

क्या होगा ऑफर का प्रारूप
फाइलिंग में कहा गया है कि यह एफपीओ में खुदरा निवेशकों को 64 रुपये प्रति शेयर की छूट की पेशकश करेगा, जहां बोली लॉट और शेयरों के हिसाब से निर्धारित की गई है। नियामकीय फाइलिंग के डॉक्यूमेंट में कहा गया है कि से हमने पिछले कुछ वर्षों में, अदाणी समूह के लिए नए व्यावसायिक रास्ते खोले हैं। उन्हें बड़े और आत्मनिर्भर व्यावसायिक वर्टिकल में विकसित किया है।

आपको बता दें कि अदाणी समूह के वर्तमान व्यापार पोर्टफोलियो में ग्रीन हाइड्रोजन पारिस्थितिकी तंत्र, डेटा केंद्र, हवाई अड्डे, सड़कें, फूड एफएमसीजी, डिजिटल इंफ्रास्टक्चर, खनन, रक्षा और औद्योगिक विनिर्माण शामिल हैं। कंपनी ग्रीन हाइड्रोजन, विमानन क्षेत्र और डेटा केंद्रों जैसे उद्योग के अवसरों का दोहन कर रही है।

ग्रीन हाइड्रोजन पर रहेगा जोर
कंपनी ने कहा है कि वह ग्रीन हाइड्रोजन के लिए एंड-टू-एंड एकीकृत पारिस्थितिकी तंत्र को विकसित करने, बनाने और विकसित करने के उद्देश्य से ग्रीन हाइड्रोजन पारिस्थितिकी तंत्र स्थापित कर रही है। इस पारिस्थितिकी तंत्र में नवीकरणीय ऊर्जा उपकरणों का निर्माण शामिल है। इसके अलावा AEL मुंबई, अहमदाबाद, लखनऊ, मंगलुरु, जयपुर, गुवाहाटी और तिरुवनंतपुरम शहरों में सात परिचालन हवाई अड्डों का संचालन और प्रबंधन करता है। नवी मुंबई में इसके पास एक ग्रीनफील्ड हवाई अड्डा है। यह भारत में बुनियादी ढांचा परियोजनाओं का भी विकास कर रहा है।

अदाणी समूह ने पहले 3 मिलियन टन तक हरित हाइड्रोजन के उत्पादन के लिए हरित हाइड्रोजन पारिस्थितिकी तंत्र में अगले 10 वर्षों में 50 बिलियन अमरीकी डालर का निवेश करने की योजना की घोषणा की थी। इसके अलावा, यह गुजरात में मुंद्रा एसईजेड में अपनी सौर मॉड्यूल निर्माण क्षमताओं को 10 गीगावॉट प्रति वर्ष तक बढ़ाने की योजना बना रहा है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -spot_img