UP:  पांच करोड़ रुपये के लिए दुल्हन को ही बता दिया पागल

UP:  पांच करोड़ रुपये के लिए दुल्हन को ही बता दिया पागल
ख़बर को शेयर करे

वाराणसी से हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां एक कारोबारी ने दो करोड़ रुपये खर्च कर बेटी की शादी की। शादी के बाद पांच करोड़ रुपये फिर मांगे गए। मांग पूरी न होने पर बेटी को प्रताड़ित किया गया। मांग पूरी नहीं हुई तो उसे प्रताड़ित किया गया। जानलेवा हमला हुआ। अब पीड़िता ने जैतपुरा थाने में तहरीर देकर बंगलूरू निवासी पति प्रियंक समेत पांच के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है।

वाराणसी के भरत मिलाप कॉलोनी नाटी इमली की रहने वाले कारोबारी ने दो करोड़ रुपये खर्च करके बेटी सुगंधा पी. अग्रवाल की शादी छह साल पहले बंगलूरू में की थी। सुगंधा ससुराल गई तो पांच करोड़ की मांग और रख दी गई। कहा गया कि पति प्रियंक अग्रवाल को बिजनेस करना है। 

मांग पूरी नहीं हुई तो उसे प्रताड़ित किया गया। जानलेवा हमला हुआ। अब सुगंधा ने जैतपुरा थाने की पुलिस को तहरीर देकर बंगलूरू निवासी पति प्रियंक अग्रवाल, सास मीना अग्रवाल, ससुर भगवत अग्रवाल, ननद शैली अग्रवाल और देवर सर्वेश अग्रवाल के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है।

सुगंधा पी. अग्रवाल ने पुलिस को बताया कि उनका विवाह 18 जून 2017 को प्रियंक अग्रवाल के साथ कोलकाता में हुआ था। शादी में उनके पिता घनश्याम दास ने 70 लाख रुपये नकद और 50 लाख रुपये के जेवर दिए थे। अस्सी लाख और खर्च हुए थे। इस तरह से शादी में लगभग दो करोड़ रुपये खर्च हो गए थे। 

ससुराल जाने के कुछ समय बाद पति प्रियंक ने गुजरात में फैक्ट्री स्थापित करने और कारोबार के लिए मायके से पांच करोड़ रुपये मंगवाने के लिए कहा। मांग पूरी न होने पर उन्हें प्रताड़ित किया जाने लगा। मई 2018 में उन्होंने एक पुत्र को जन्म दिया। इसके बाद भी प्रताड़ना का सिलसिला जारी रहा तो वह जून 2018 में मायके चली आईं।

इसे भी पढ़े    है हिंडनबर्ग, जिसकी रिपोर्ट से अदाणी को हुआ भारी नुकसान, क्यों होता है इसके दावों पर विवाद?

पागल बताया तो डॉक्टर ने दी क्लीन चिट, फिर भी वसूले 10 लाख
सुगंधा ने पुलिस को बताया कि मायके से ससुराल जाने की बारी आई तो उनकी विदाई के लिए कोई तैयार नहीं हुआ। ससुराल के लोगों ने उन्हें पागल कहा। इस पर शहर के प्रतिष्ठित डॉक्टर झंवर के यहां उनका मेडिकल चेकअप हुआ। 

 डॉक्टर ने उन्हें मानसिक रूप से पूरी तरह स्वस्थ बताया। इसके बाद उनके पिता अपने मित्रों के साथ बंगलूरू गए और उनके पति को 10 लाख रुपये कारोबार शुरू करने के लिए दिए। पिता ने यह भी कहा आगे भी वह मदद करते रहेंगे। 

 ससुराल जाने पर फिर से पांच करोड़ रुपये की मांग शुरू कर दी गई। मांग पूरी न होने पर छह अगस्त 2023 को उनकी इस तरह से पिटाई की गई कि अभी तक उपचार चल रहा है। इस संबंध में इंस्पेक्टर जैतपुरा अश्विनी चतुर्वेदी ने बताया कि तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है।


ख़बर को शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *