भारत दौरा टालने के बाद अचानक चीन पहुंचे एलन मस्‍क,गुपचुप तरीके से क्‍या करेंगे वहां?

भारत दौरा टालने के बाद अचानक चीन पहुंचे एलन मस्‍क,गुपचुप तरीके से क्‍या करेंगे वहां?
ख़बर को शेयर करे

नई दिल्ली। दुन‍िया के अरबपत‍ियों में शाम‍िल और टेस्‍ला के सीईओ एलन मस्क ने प‍िछले द‍िनों अपने भारत दौरे को टाल द‍िया था। लेक‍िन अब अचानक चीन दौरे पर पहुंचकर मस्‍क ने सबको चौंका द‍िया है। इलेक्‍ट्र‍िक व्‍हीकल बनाने वाली कंपनी टेस्ला के ल‍िए चीन दूसरा सबसे बड़ा बाजार है। इस मामले से जुड़े दो लोगों ने मस्‍क की चीन व‍िज‍िट के बारे में रॉयटर्स को जानकारी दी। यह खबर ऐसे समय में आई है जब प‍िछले द‍िनों एलन मस्‍क ने अपने भारत दौरे को टाल द‍िया था। मस्‍क को भारत में 21 और 22 अप्रैल को आना था। यहां उनकी मुलाकात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से होनी तय थी।

इस साल के अंत तक आ सकते हैं भारत
भारत दौरे से कुछ द‍िन पहले उन्‍होंने एक्‍स पोस्‍ट के जर‍िये जानकारी दी क‍ि भारत यात्रा को कुछ समय के ल‍िए टाला जा रहा है। भारत नहीं आने का कारण उन्होंने ‘टेस्ला से जुड़े जरूरी कामों में व्‍यस्‍तता’ बताई थी। इस दौरान कहा गया क‍ि वह भारत दौरे पर इस साल के अंत तक आ सकते हैं। अब भारत का दौरा टालने के करीब एक हफ्ते बाद ही वह चीन दौरे पर चले गए। भारत में उनकी मुलाकात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से होनी थी। यहां उनका टेस्ला की एंट्री से जुड़ा ऐलान करने का कार्यक्रम था।

FSD सॉफ्टवेयर की होगी बातचीत
रॉयटर्स के अनुसार मस्‍क, चीन में टेस्ला की सेल्‍फ ड्राइव‍िंग गाड़ियों के लिए जरूरी सॉफ्टवेयर FSD को शुरू करने की मंजूरी पाने के लिए चीन के द‍िग्‍गज अधिकारियों से मिलने पहुंचे हैं। इसके अलावा, मस्‍क चीन में टेस्ला की गाड़ियों से इकट्ठा होने वाले डाटा को विदेश में भेजकर अपनी गाड़ियों को और बेहतर बनाने के लिए इस्तेमाल करना चाहते हैं। इसकी मंजूरी के ल‍िए भी वह अधिकारियों से बात कर रहे हैं।

इसे भी पढ़े   कार्तिक पूर्णिमा के दिन जन्मों जन्म के पापों से छुटकारा पाने के है सुनहरा मौका

मस्‍क के चीन दौरे का प्रचार नहीं क‍िया गया
मस्क ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्‍स (X) पर लोगों के सवालों का जवाब देते हुए बताया कि चीन में टेस्ला की सेल्‍फ ड्राइव‍िंग कार के लिए जरूरी सॉफ्टवेयर FSD जल्द लोगों को म‍िलेगा। हालांक‍ि ध्‍यान देने वाली बात यह है क‍ि एलन मस्‍क के चीन दौरे का प्रचार नहीं क‍िया गया। रॉयटर्स के अनुसार चीन के नियमों के अनुसार टेस्ला 2021 से ही चीन में चल रही अपनी गाड़ियों से जो भी जानकारी इकट्ठी करती है, वो देश में ही सुरक्षित रहती है और इसे अमेरिका वापस नहीं भेजा जाता।

अमेरिका की इलेक्ट्रिक गाड़ी बनाने वाली कंपनी टेस्ला ने भले ही चार साल पहले सेल्‍फ ड्राइव‍िंग कारों के ल‍िए FSD सॉफ्टवेयर बना लिया था। लेकिन चीन में लोगों की मांग के बावजूद अभी तक इसे लॉन्च नहीं किया गया है।


ख़बर को शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *