गहलोत-पायलट पर सस्पेंस समाप्त,कांग्रेस ने लिस्ट जारी कर इन दिग्गजों को सौंपी बड़ी जिम्मेदारी

गहलोत-पायलट पर सस्पेंस समाप्त,कांग्रेस ने लिस्ट जारी कर इन दिग्गजों को सौंपी बड़ी जिम्मेदारी
ख़बर को शेयर करे

जयपुर। लोकसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस ने राजस्थान की 10 सीटों के लिए मंगलवार शाम उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है। इसमें आठ सीटें वह है, जहां बीजेपी ने भी अपने उम्मीदवार घोषित कर दिए है। यानी आठ लोकसभा सीटों पर चुनावी तस्वीर साफ हो चुकी है कि बीजेपी और कांग्रेस दोनों ही दलों से कौन-कौन उम्मीदवार होंगे। इधर, कांग्रेस की सूची जारी होने के बाद अब सियासी गलियारों में समीकरणों को लेकर चर्चाएं शुरू हो गई है। राजनीतिक जानकार कांग्रेस और बीजेपी की लिस्ट को लेकर विश्लेषण करने में जुट गए हैं।

सूची जारी कर कांग्रेस प्लान में जुटी
कांग्रेस ने मंगलवार शाम 10 लोकसभा सीटों के लिए अपने उम्मीदवार घोषित किए हैं। इसके बाद कांग्रेस अब अपने प्लान पर काम करना शुरू कर चुकी है। लोकसभा चुनाव की विभिन्न सीटों को लेकर कांग्रेस ने अपने दिग्गज अशोक गहलोत, सचिन पायलट और सीपी जोशी को जिम्मेदारी सौंपी है। जो यहां की रणनीति को लेकर पूरे मॉनिटरिंग करेंगे। इस दौरान सचिन पायलट को दौसा, टोंक-सवाई माधोपुर, धौलपुर, करौली, जयपुर ग्रामीण, झुंझुनू लोकसभा सीटों की जिम्मेदारी सौंपी गई है। वहीं अशोक गहलोत को जोधपुर, पाली, जालौर, बाड़मेर, नागौर सीटों की जिम्मेदारी दी गई है। इसी तरह सीपी जोशी को भीलवाड़ा, उदयपुर, राजसमंद, चित्तौड़गढ़ और बांसवाड़ा की जिम्मेदारी दी है।

चुनाव लड़ने पर सस्पेंस समाप्त
लोकसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस की तरफ से काफी समय से गहलोत और पायलट जैसे दिग्गज नेताओं के चुनाव लड़ने को लेकर जमकर चर्चाएं चल रही थी। सियासी गलियारों में इस बात को लेकर काफी चर्चा रही कि कांग्रेस दो बार क्लीन स्वीप होने के बाद अब काफी संभल कर रणनीति बना रही है। ऐसे में कांग्रेस पायलट और गहलोत को भी चुनाव मैदान में उतर सकती है। लेकिन दिल्ली में केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक के बाद लगभग तस्वीर साफ हो चुकी है कि दोनों ही नेता चुनाव नहीं लड़ने जा रहे हैं। गहलोत की परंपरागत सीट जोधपुर पर नए चेहरे करण सिंह और पायलट के गढ़ टोंक सवाई माधोपुर से उनके करीबी देवली विधायक हरीश मीणा को टिकट दिया है।

इसे भी पढ़े   शाह का बड़ा एलान,जम्मू-कश्मीर में गुर्जर,बकरवाल,पहाड़ी समुदायों से किया आरक्षण का वादा

बीजेपी की दूसरी सूची का इंतजार
कांग्रेस और बीजेपी की दिल्ली में सोमवार शाम केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक हुई थी। इस बैठक में दोनों ही दलों में राजस्थान की सीटों को लेकर मंथन हुआ। इसके बाद यही कयास लगाए जा रहे थे कि बीजेपी की भी मंगलवार शाम तक दूसरी सूची आ सकती है। लेकिन ऐसा नहीं हो पाया। सूत्रों के अनुसार भाजपा की अगली सूची के लिए कुछ समय लग सकता है।


ख़बर को शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *