तमिलनाडु के राज्यपाल ने जहरीली शराब त्रासदी पर मांगी रिपोर्ट

तमिलनाडु के राज्यपाल ने जहरीली शराब त्रासदी पर मांगी रिपोर्ट
ख़बर को शेयर करे

तमिलनाडु। तमिलनाडु के राज्यपाल आर एन रवि ने राज्य में जहरीली शराब त्रासदी पर प्रदेश सरकार से कार्रवाई रिपोर्ट मांगी है जिसमें 21 लोगों की जान चली गई थी। एक सरकारी सूत्र ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी। सूत्र ने बताया कि रवि ने तमिलनाडु सरकार से जहरीली शराब के जब्त नमूनों की फॉरेंसिक रिपोर्ट और मौत की वजहों के बारे में भी जानना चाहा है।

राज्यपाल ने मंगलवार को पुलिस की ओर से दिए गए इस बयान के बाद यह कदम उठाया है, जिसमें कहा गया था कि जहरीली शराब बनाने के लिए पुडुचेरी से खरीदे गए जैविक रसायन मेथेनॉल का इस्तेमाल किया गया था और इसी की वजह से 21 लोगों की मौत हुई। इस सप्ताह के शुरु में तमिलनाडु के विल्लुपुरम और चेंगलपट्टू में जहरीली शराब के सेवन से मरने वाले 21 लोगों में से 13 विल्लुपुरम के मरक्कानम स्थित एकियारकुप्पम के निवासी थे, जो पुडुचेरी की सीमा से लगता है। आठ लोग चेंगलपट्टू के रहने वाले थे।

मामले में अब तक कई लोग गिरफ्तार
बुधवार को विल्लुपुरम पुलिस ने तमिलनाडु में स्थानीय विक्रेताओं को मेथेनॉल की आपूर्ति करने के आरोप में पुडुचेरी के एलुमलाई और बरकतुल्ला को गिरफ्तार किया था,जबकि एक अन्य व्यक्ति को चेन्नई से पकड़ा गया था। उसकी पहचान इलैया नंबी के रूप में की गई है और वह चेन्नई की एक रासायनिक कंपनी का मालिक है। आरोप है कि इलैया नंबी ने एलुमलाई और बरकतुल्ला को 66,000 रुपये में 1,200 लीटर मेथेनॉल बेचा था और विजी नाम के एक व्यक्ति ने इस रसायन को दोनों जगहों पर पहुंचाने में अहम भूमिका निभाई थी। पुलिस ने विजी को भी गिरफ्तार कर लिया है।

इसे भी पढ़े   NPS से कैसे पाएं दो लाख रुपये मंथली पेंशन,समझें ये आसान कैलकुलेशन

ख़बर को शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *