एक बाबू का हाथ काले धन के चक्कर मे लाल हो गया,पहुंच गया सलाखों के पीछे

एक बाबू का हाथ काले धन के चक्कर मे लाल हो गया,पहुंच गया सलाखों के पीछे

जौनपुर। नगर पालिका परिषद जौनपुरके एक बाबू का हाथ काले धन के चक्कर मे लाल हो गया। अतिरिक्त धन कमाने के चक्कर में वह जेल की सलाखों के पीछे पहुंच गया । कर्मचारी की गिरफ्तारी से नगर पालिका प्रशासन में हड़कम्प मच गया है।
नगर कोतवाली क्षेत्र के ओलन्दगंज मोहल्ले के निवासी आशुतोष अस्थाना की पत्नी रीना अस्थाना का मछलीशहर पड़ाव पर करीब एक विस्सा जमीन है,इसी जमीन को लेकर विवाद चल रहा है जिसका मुकदमा न्यायालय में चल रहा है,कोर्ट से स्टे भी है। कोर्ट में पत्रावली समिट करने के लिए नगर पालिका का लिपिक व न्यायालय पैरोकार संतोष राव 50 हजार रुपये रिश्वत मंगा था, मजबूर होकर आशुतोष ने दो किस्तो में 40 हजार रुपये दे चुके थे इसके बाद भी उसने पत्रावली कोर्ट में समिट नही किया तथा 10 हजार रुपये और मांग रहा था । पीड़ित ने बताया कि इससे आजीज आकर मैने बीते गुरुवार को एन्टी करप्शन वाराणसी से सम्पर्क किया । टीम ने 24 घंटे के भीतर मेरे सहयोग से पांच हजार रुपये रिश्वत लेते हुए लिपिक को दीवानी कचेहरी के पास अम्बेडकर तिराहे से गिरफ्तार करके लाइन बाजार थाने पर ले जाकर लिखा पढ़ी करने के बाद जेल भेज दिया ।

गिरफ्तार करने वाली एंटी करप्शन टीम में प्रभारी निरीक्षक नीरज कुमार सिंह, दरोगा राकेश बहादुर सिंह,प्रमोद कुमार,योगेंद्र कुमार,मुख्य आरक्षी शैलेंद्र कुमार राय,विनोद कुमार राय,आरक्षी आशीष शुक्ला,वीरेंद्र प्रताप सिंह,अजय कुमार यादव शामिल रहे।

इसे भी पढ़े   चुनावी जनसभा में अभद्र टिपण्णी करने पर आज़म खान पर एक और मुकदमा दर्ज

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *