प्रयागराज में अतीक अहमद के गुर्गे के खिलाफ कार्रवाई जारी, अब फाइनेंसर के घर पर चला बुलडोजर

प्रयागराज में अतीक अहमद के गुर्गे के खिलाफ कार्रवाई जारी, अब फाइनेंसर के घर पर चला बुलडोजर

नई दिल्ली। उमेश पाल की हत्याकांड के बाद माफिया अतीक अहमद के करीबियों की मुसीबतें लगातार बढ़ती जा रही है। लगातार तीसरे दिन माफिया के घर पर बुलडोजर चल रहा है। प्राप्त जानकारी के अनुसार, शुक्रवार को माफिया अतीक अहमद के फाइनेंसर मशकुद्दीन के दो मंजिला मकान को ढहाया जा रहा है।

ढाई सौ वर्ग मीटर में बना मकान
शुक्रवार को प्रयागराज विकास प्राधिकरण (पीडीए) ने इस दो मंजिला इमारत को गिराना शुरु किया। करीब ढाई सौ वर्ग मीटर में बना यह मकान मशकुद्दीन की बेटी तौहीद फात्मा के नाम पर है।

अब्दुल कवि का ढहाया गया घर
शुक्रवार को कौशांबी में अतीक अहमद गैंग के शूटर अब्दुल कवि के घर को ढहाया जा रहा है। अब्दुल कवि, बसपा विधायक राजू पाल हत्याकांड के बाद पिछले 18 सालों से फरार है। आज पीडीए की टीम मंदर मोड़ के पास उसका घर ढहाने पहुंची।

20 संपत्तियों को किया गया चिंह्नित
अतीक अहमद के करीबियों के खिलाफ पुलिस और प्रशासन का शिकंजा कसा जा रहा है। ऐसे एक दर्जन मददगार चिंह्नित भी कर लिए गए हैं। पुलिस और प्रशासन के रडार पर आए इन करीबियों की 20 स्थानों पर संपत्तियों का पता चला है, जो अवैध रूप से कमाई करके अर्जित की गई हैं।

इन जगहों पर हैं अवैध संपत्तियां

माफिया के लिए काम करने वाले उसके ये करीबी सामने नहीं आते हैं मगर सक्रिय रहते हैं। ये संपत्तियां धूमनगंज, करेली, नुरूल्लाह रोड, नैनी, झलवा, खुल्दाबाद, सिविल लाइंस, झूंसी, लीडर रोड, मम्फोर्डगंज, स्टेनली रोड, फाफामऊ, सहसों के अलावा कौशांबी, प्रतापगढ़ में चिंन्हित की गई हैं। इनके रिकार्ड भी खंगाल लिए गए हैं। सभी दस्तावेजों की फाइलें तैयार हो चुकी हैं।

इसे भी पढ़े   कन्हैया लाल के बेटों को मिली नौकरी,बोले-आरोपियों को अब फांसी मिलने का इंतजार

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *