अक्षय तृतीया पर कर लें ये ‘महाउपाय’, मिल जाएगी पापों से मुक्ति

अक्षय तृतीया पर कर लें ये ‘महाउपाय’, मिल जाएगी पापों से मुक्ति
ख़बर को शेयर करे

नई दिल्ली। हिंदू पंचांग के अनुसार वैशाख माह के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को अक्षय तृतीया पर्व मनाया जाता है। सनातन धर्म में अक्षय तृतीया का विशेष महत्व है। ऐसा भी कहा जाता है कि इस दिन से केदारनाथ के कपाट खुल जाते हैं। इस बार अक्षय तृतीया का पर्व 10 मई के दिन मनाई जाएगी। इसके साथ ही व्यक्ति को आर्थिक परेशानियों से छुटकारा मिलता है। मान्यता है कि इस दिन कुछ खास उपाय करने से मां लक्ष्मी जल्दी प्रसन्न होती हैं। अगर आप आर्थिक तंगी से परेशान हैं, तो उससे छुटकारा पाने के लिए कुछ उपाय किए जा सकते हैं।

अक्षय तृतीया पर कर लें ये उपाय
ज्योतिष शास्त्र में अक्षय तृतीया के दिन मां लक्ष्मी की पूजा-उपासना करने से धन की कमी नहीं होती। इस दिन विधिवत धन की देवी मां लक्ष्मी की पूजा की जाती है। वहीं, पूजा के समय मां लक्ष्मी को गुलाब का फूल अर्पित करें। पूजा के दौरान गुलाबी रंग के कपड़े पहनें। साथ ही, “ह्रीं क ए इ ल ह्रीं ह स क ह ल ह्रीं स क ल ह्रीं” मंत्र का जाप करें।

बता दें कि अक्षय तृतीया पर घर की पूरी तरह से साफ-सफाई की जाती है। साथ ही, वास्तु दोष दूर करने के लिए भी इस दिन कुछ उपाय किए जा सकते हैं। इसके लिए सभी वस्तुओं को सही स्थान पर रखना बेहद जरूरी है। बता दें कि घर की अलमारी को दक्षिण दिशा में रखें। इससे धन में वृद्धि होती है।

मान्यता है कि अक्षय तृतीया के दिन घर में गणेश जी की प्रतिमा घर पर लाना शुभ माना गया है। वहीं, प्रतिमा को घर के मुख्य द्वार पर लगा दें। इस उपाय को करने से व्यक्ति को जीवन में आ रहे सभी संकट दूर होते हैं।

इसे भी पढ़े   पति से विवाद के बाद पत्नी ने सो रहे तीन बच्चों को कुए में फेंका

वहीं, अगर आप दांपत्य जीवन में परेशानी का सामना कर रहे हैं, तो अक्षय तृतीया कते दिन धन की देवी मां लक्ष्मी और भगवान विष्णु जी की पूजा करें। इस दिन जगत के पालनहार विष्णु जी की उपासना की जाती है। कहते हैं कि इससे व्यक्ति के जीवन में आ रही बाधाएं दूर होती हैं।

इस दिन आभूषण खरीदना भी शुभ माना गया है। अगर आपकी आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं है, तो इस दिन जौं खरीदना शुभ माना गया है। इस उपाय को करने से धन का आगमन होता है।


ख़बर को शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *