लॉटरी के चक्कर में ठगी के शिकार हो गए दर्जनों ग्रामीण,सामान बेचने के बहाने की गई ठगी,दो पर धोखाधडी का केस

लॉटरी के चक्कर में ठगी के शिकार हो गए दर्जनों ग्रामीण,सामान बेचने के बहाने की गई ठगी,दो पर धोखाधडी का केस
ख़बर को शेयर करे

सोनभद्र। गांवों में लाटरी सिस्टम के जरिए, सस्ती कीमत पर महंगे सामानों की खरीद के जरिए लोगों को ठगे जाने का मामला सामने आया है। ताजा मामला दुद्धी कोतवाली क्षेत्र के रजखड गांव का है। यहां के दर्जनों ग्रामीण लाटरी के जरिए कम कीमत पर महंगा सामान मिलने के लालच में ठगी के शिकार हो गए हैं। मामला पिछले सप्ताह का बताया जा रहा है। प्रकरण को लेकर दी गई तहरीर पर पुलिस ने एक महिला सहित दो के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है।

रजखड़ गांव के बृजेश कुमार ने पुलिस को दी तहरीर में बताया कि गत 25 और 26 जनवरी को बाइक से एक महिला और पुरूष उनके गांव में पहुंचे और सस्ती दर पर महंगे सामानों की बिक्री का लालच देते हुए,पहले गांव के लोगों को 20-20 रुपये का लाटरी टिकट बेचा। सामान निकलने पर एक लॉटरी टिकट के बदले 450 रुपये लिए जाने की बात तय की। इसके बाद जिनकी सामान की पर्ची निकली,उसमें से अधिकांश से,निर्धारित सस्ते दर वाली रकम,कम से कम एक सामान का 450 रुपये वसूलकर,अगले दिन सामान पहुंचा देने का झांसा देकर रफूचक्कर हो गया। अगले दिन से ग्रामीणों ने, बताए गए नंबर पर रिंग करना शुरू किया तो ना ही कोई काल रिसीव हुआ न ही कोई जवाब मिला।

लॉटरी में स्कूटी निकलने का झांसा देकर उड़ाई हजारों की रकम
बृजेश ने पुलिस को बताया कि उसको जो लॉटरी का टिकट दिया गया था। उसमें स्कूटी निकली। वहीं,कई के लॉटरी में कूलर,सिलाई मशीन का नाम सामने आया। बृजेश के मुताबिक उससे स्कूटी के लिए छह हजार रुपये और लिए गए दो लॉटरी टिकट का नौ सौ रुपये लिए गए। अन्य ने कूलर-सिलाई मशीन के नाम पर 450-450 वसूले गए। कहा गया कि अगले दिन आकर वह सामान पहुंचा देंगे। भरोसा देने के लिए मोबाइल नंबर थमाया गया और कुछ लोगों से भुगतान भी ऑनलाइन लिया गया। साथ ही संगीता गुप्ता के नाम वाला एक आधार कार्ड भी सौंपा गया लेकिन अगले दिन न तो उनका कोई पता नहीं चला न ही दिए गए नंबर पर कोई काल ही रिसीव की गई।

इसे भी पढ़े   Map से लेकर सर्च तक फ्री में सभी सेवाएं दें, इस तरह अरबों डॉलर कमा रहा Google

ख़बर को शेयर करे

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *