चुनाव आयोग ने रिमोट वोटिंग मशीन पर सभी पार्टियों के साथ की बैठक, तकनीकी विशेषज्ञ भी रहे मौजूद

चुनाव आयोग ने रिमोट वोटिंग मशीन पर सभी पार्टियों के साथ की बैठक, तकनीकी विशेषज्ञ भी रहे मौजूद

नई दिल्ली । चुनाव आयोग ने आज सभी राष्ट्रीय दलों के अध्यक्षों और महासचिवों के साथ एक बैठक की। इस बैठक में रिमोट वोटिंग मशीन पर चर्चा की गई। भारत निर्वाचन आयोग ने राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों को प्रवासी मतदाताओं के लिए रिमोट इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन प्रोटोटाइप दिखाया। बता दें कि चुनाव आयोग प्रवासी मतदाताओं को रिमोट वोटिग की सुविधा देने के लिए कार्य कर रहा है।

मतदान प्रतिशन को बढ़ाना है चुनाव आयोग का मकसद
चुनाव आयोग के अनुसार, प्रोटोटाइप मल्टी-कंस्टीट्यूएंसी रिमोट इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (RVM) प्रवासी मतदाताओं को दूरस्थ मतदान केंद्रों से मतदान करने में सक्षम बनाएगी। चुनाव आयोग ने बताया कि घरेलू प्रवासियों के मतदान करने में असमर्थता की कमी मतदान प्रतिशत के प्रमुख कारणों में से एक है। उन्होंने कहा कि प्रवासी मतदाताओं को अपने मताधिकार का प्रयोग करने के लिए अपने गृह जिले की यात्रा करने की आवश्यकता नहीं होगी।
प्रवासी वोटरों को चुनाव में गृह राज्य जाने की नहीं पड़ेगी जरूरत, कहीं भी डाल सकेंगे वोट

बैठक में सभी राजनीतिक दलों को दिया निमंत्रण
बता दें कि चुनाव आयोग ने बैठक मे शामिल होने के लिए सभी मान्यता प्राप्त आठ राष्ट्रीय और 57 क्षेत्रीय राजनीतिक दलों को आमंत्रित किया है। इस बैठक में बहु-निर्वाचन प्रोटोटाइप रिमोट ईवीएम के कामकाज का प्रदर्शन किया जाएगा। इस प्रदर्शन के दौरान चुनाव आयोग की तकनीकी विशेषज्ञ समिति के सदस्य भी मौजूद रहेंगे।

चुनाव आयोग ने राजनीतिक दलों से मांगे विचार
उल्लेखनीय है कि चुनाव आयोग ने 31 जनवरी 2023 तक घरेलू प्रवासियों के लिए कानून में आवश्यक बदलाव, प्रशासनिक प्रक्रियाओं में बदलाव और मतदान पद्धति/आरवीएम/प्रौद्योगिकी सहित विभिन्न संबंधित मुद्दों पर मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों के लिखित विचार भी मांगे हैं।

इसे भी पढ़े   इलेक्शन कमीशन ऑफ़ इंडिया ने 6 राज्यों में की उपचुनाव की घोषणा

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *