क्या अनंतनाग मुठभेड़ में आतंकी उजैर हो गया ढेर? छठे दिन भी सेना का ऑपरेशन जारी

क्या अनंतनाग मुठभेड़ में आतंकी उजैर हो गया ढेर? छठे दिन भी सेना का ऑपरेशन जारी
ख़बर को शेयर करे

नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर के अनंतनाग में आतंकियों के खिलाफ सेना के 13 सितंबर से शुरू हुआ ऑपरेशन अब भी जारी है। छिपे आतंकियों के खात्मे की सुरक्षाबलों ने तलाश तेज कर दी है। सेना आतंकियों के पीछे काल बनकर पड़ गई है।

आतंकी उजैर खान के मारे जाने के आसार
जंगल में मिली आतंकी की जली हुई लाश
A+ कैटेगिरी का आतंकी है उजैर खान

जली हुई लाश उजैर खान की?
इस बीच माना जा रहा है कि सुरक्षाबलों को इस ऑपरेशन के दौरान अनंतनाग हमले के मास्टरमाइंड उजैर खान को ढेर करने में बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। दरअसल, अनंतनाग के कोकरनाग में पहाड़ से सेना को जला हुआ शव बरामद हुआ। जिस आतंकी की लाश मिली है, वो लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी उजैर खान हो सकता है।

ऑपरेशन के दौरान सेना ने शनिवार को अनंतनाग में एक आतंकी को मार गिराया था। उसका जला हुआ शव बरामद हुआ। जली हुई हालत में जो लाश मिली है वो उजैर खान का माना जा रहा है। हालांकि शव की पहचान अब तक नहीं हो पाई है।

10 लाख का इनामी आतंकवादी है उजैर खान
उजैर खान के बारे में बताया जाता है कि वह कई आतंकी हमलों में शामिल रहा है। वह A+ कैटेगरी का आतंकवादी है। उस पर 10 लाख रुपये का भी इनाम है। वह कोकेरनाग के ही नागम गांव का रहने वाला है। उजैर खान के बारे में बताया गया है कि वह 26 जुलाई 2022 से ही लापता था। कहा जाता है कि उसी दौरान उसने आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा को ज्वॉइन कर लिया था।

इसे भी पढ़े   6 साल के बच्चे की बलि चढ़ा दी:आरोपियों ने बताई सपने और बलि की कहानी

छठवें दिन भी सेना का अभियान जारी
अनंतनाग में एनकाउंटर के दौरान सुरक्षाबलों पर हमले का मास्टरमाइंड भी उजैर खान को ही बताया जाता है। इस हमले में कर्नल मनप्रीत सिंह, मेजर आशीष और डीएसपी हुमायूं भट्ट शहीद हो गए थे। उजैर खान ही अनंतनाग में आतंकियों को लीड कर रहा है। इसके बाद से ही अनंतनाग के गुनहगारों का अंत करने के लिए सुरक्षाबलों ने अपने ऑपरेशन को तेज कर दिया।

आतंकियों के खिलाफ सुरक्षाबलों के इस ऑपरेशन को पांच दिन पूरे हो चुके हैं और सोमवार को अभियान का छठवां दिन है। आतंकी जंगलों में छिपे हुए हैं। वहीं, सेना अनंतनाग के गुनहगारों को किसी भी कीमत पर छोड़ने नहीं वाली। इसलिए जमीन से लेकर आसमान के जरिए आतंकियों को ढूंढा जा रहा है। सेना इसके लिए ड्रोन का भी इस्तेमाल कर रही है।


ख़बर को शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *