पन्नू की हत्या की साजिश में भारत पर आरोप,व्हाइट हाउस ने क्या कहा?

पन्नू की हत्या की साजिश में भारत पर आरोप,व्हाइट हाउस ने क्या कहा?

अमेरिका। अमेरिका में पन्नू की हत्या की साजिश को लेकर भारत पर आरोप लगाया गया है। ऐसे में सवाल उठ रहे हैं कि क्या इससे अमेरिका और भारत के रिश्ते पर कोई असर पड़ेगा? आपको बता दें कि व्हाइट हाउस ने एक बयान जारी करके साफ किया है कि इससे भारत के साथ अमेरिका के रणनीतिक संबंधों पर कोई असर नहीं पड़ने वाला है।

व्हाइट हाउस ने क्या कहा है?
व्हाइट हाउस के प्रवक्ता जॉन किर्बी ने कहा- ‘भारत हमारा एक रणनीतिक साझेदार है और हम भारत के साथ उस रणनीतिक साझेदारी को बेहतर बनाने और मजबूत करने के लिए काम करना जारी रखेंगे।’ उन्होंने कहा कि इसके साथ ही हम लगाए गए आरोपों को भी गंभीरता से ले रहे हैं।

इससे पहले तेल अवीव के दौरे पर पहुंचे अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने कहा- ‘मैं कह सकता हूं कि यह ऐसी चीज है जिसे हम बहुत गंभीरता से लेते हैं। हममें से कई लोगों ने पिछले सप्ताहों में इसे सीधे भारत सरकार के समक्ष उठाया है। सरकार ने आज घोषणा की कि वह एक जांच कर रही है और यह अच्छा और उचित है और हम परिणाम देखने के लिए उत्सुक हैं।’

पन्नू की हत्या की साजिश…
अमेरिकी मीडिया में चर्चा चल रही है कि पन्नू को मारने का सौदा 1 लाख अमेरिकी डॉलर यानी 83 लाख 37 हजार 310 रुपये में तय हुआ था और 15 हजार डॉलर यानी 12 लाख 50 हजार 597 रुपये एडवांस के तौर पर दिए गए थे। ऐसे में सवाल उठ रहे हैं कि क्या पन्नू की जान इतनी सस्ती है कि केवल 83 लाख में कोई उसे मारने के लिए तैयार हो जाए। अगर ऐसा है तो दुनिया में जितने आतंकी दूसरे देशों में जाकर छिप गए हैं, उन्हें मारना भी काफी आसान हो जाता है। इससे ये तो साफ है कि भारतीय नागरिक पर लगाए गए आरोप सरासर झूठे हैं।

इसे भी पढ़े   चीन से हो गया मोहभंग और भारत पर उमड़ा इन विदेशी निवेशकों का प्यार

आपको बता दें कि अमेरिकी प्रॉसिक्यूटर डेमियन विलियम्स ने इस मामले में निखिल गुप्ता और एक अन्य अज्ञात भारतीय अधिकारी का नाम लिया है। बताया जा रहा है कि एक अज्ञात भारतीय अधिकारी, जो सीनियर फील्ड ऑफिसर है, ने निखिल गुप्ता को पन्नू की हत्या का ऑफर दिया था। वहीं, गुप्ता इस शर्त पर हत्या की साजिश का हिस्सा बनने के लिए राजी हुआ था, जिसमें कहा गया था कि गुजरात में उसके खिलाफ चल रहे एक आपराधिक मामले को रद्द कर दिया जाएगा।

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *