ईशा,आकाश और अनंत अंबानी होंगे रिलायंस के बोर्ड में शामिल,90% से ज्यादा मतों के साथ शेयरधारकों ने प्रस्ताव पर लगाई मुहर

ईशा,आकाश और अनंत अंबानी होंगे रिलायंस के बोर्ड में शामिल,90% से ज्यादा मतों के साथ शेयरधारकों ने प्रस्ताव पर लगाई मुहर
ख़बर को शेयर करे

नई दिल्ली। रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयरधारकों ने ईशा अंबानी, आकाश अंबानी और अनंत अंबानी के कंपनी के नॉन-एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर्स पद पर नियुक्ति पर अपनी मुहर लगा दी है। कंपनी ने रेग्यूलेटरी फाइलिंग में स्टॉक एक्सचेंज को बताया कि भारी बहुमत के साथ तीनों भाई बहनों को रिलायंस इंडस्ट्रीज के बोर्ड में नॉन-एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर्स पद पर नियुक्ति किए जाने का प्रस्ताव पारित हो गया है।

90 फीसदी से ज्यादा शेयरधारकों के वोट
रिलायंस इंडस्ट्रीज ने एक्सचेंज फाइलिंग में बताया कि 26 अक्टूबर, 2023 को बहुमत के साथ रिजॉल्युशन पारित हो गया। ईशा अंबानी को कुल 98.21 फीसदी वोट मिले हैं, जबकि आकाश अंबानी को 98.06 फीसदी वोट हासिल हुआ है जबकि अनंत अंबानी को कुल 92.67 फीसदी वोट मिले हैं।

बोर्ड से पहले ही मिल चुकी है मंजूरी
28 अगस्त 2028 को रिलायंस इंडस्ट्री के एजीएम में कंपनी के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने ऐलान किया था ईशा, आकाश,अनंत अंबानी को रिलायंस इंडस्ट्रीज बोर्ड में बोर्ड में बतौर नॉन एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर के तौर पर शामिल किए जायेंगे। कंपनी के बोर्ड से तीनों को ही बोर्ड में शामिल करने पर प्रस्ताव पर पहले ही मंजूरी मिल चुकी थी। लेकिन शेयरहोल्डर्स से मंजूरी मिलने का इंतजार था। अब रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयरहोल्डर्स ने भी तीनों भाई बहनों को बोर्ड में शामिल करने पर मुहर लगा दी है। नीता अंबानी ने रिलायंस इंडस्ट्रीज के बोर्ड से इस्तीफा दे दिया था।

अगली पीढ़ी को नेतृत्व सौंपने की तैयारी
रिलायंस इंडस्ट्रीज के अलग-अलग बिजनेस को ईशा अंबानी, आकाश अंबानी और अनंत अंबानी संभालते रहे हैं। ईशा अंबानी पर रिलायंस रिटेल की जिम्मेदारी है,इसके अलावा उन्हें जियो फाइनेंशियल सर्विसेज के बोर्ड में नॉन-एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर बनाया गया है। जबकि आकाश अंबानी पर टेलीकॉम और डिजिटल कारोबार रिलायंस जियो इंफोकॉम का भार है जबकि अनंत अंबानी पर एनर्जी कारोबार की जिम्मेदारी है। अगस्त महीने में एजीएम को संबोधित करते हुए मुकेश अंबानी ने कहा था कि वे रिलायंस की अगली पीढ़ी के नेतृत्व को तैयार करेंगे। आकाश, ईशा और अनंत का मार्गदर्शन उनकी सबसे बड़ी प्राथमिकता शामिल है। जिससे वे सामूहिक नेतृत्व प्रदान कर सकें और आने वाले दशकों में रिलायंस समूह को विकास की नई ऊंचाइयों पर ले जा सकें।

इसे भी पढ़े   बेतिया में लाठी-डंडे से लोगों ने सरेआम की महिला की पिटाई,किराएदारों से गई थी पैसा मांगने

ख़बर को शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *