दिल्ली में पुलिस-NIA का ज्वाइंट ऑपरेशन जारी,3-3 लाख के इनामी 4 आतंकियों की है तलाश

दिल्ली में पुलिस-NIA का ज्वाइंट ऑपरेशन जारी,3-3 लाख के इनामी 4 आतंकियों की है तलाश
ख़बर को शेयर करे

नई दिल्ली। दिल्ली में पुलिस-NIA का ज्वाइंट ऑपरेशन चल रहा है। ये टीमें 3-3 लाख के इनामी 4 आतंकियों की तलाश कर रही हैं। बता दें कि दिल्ली में ISIS के मॉड्यूल को लेकर मल्टी एजेंसी दिल्ली में छापेमारी कर रही है। आतंकी शहनवाज, पुणे पुलिस की कस्टडी से फरार होने के बाद दिल्ली के साउथ ईस्ट इलाके में रह रहा था,वो एक IED एक्सपर्ट है। इसके अलावा दो और संदिग्धों की तलाश जारी है। जान लें कि आईएसआईएस के आतंकी पुणे, महाराष्ट्र में एक्टिव थे। वहां से 7 आतंकी पहले से गिरफ्तार किए जा चुके हैं।

ISIS के आतंकियों की तलाश
पुणे में छिपे आतंकी बड़ी घटना को अंजाम देने की फिराक में थे। इसमें एक नामी अस्पताल का डॉक्टर अदनान भी शामिल था। बीते जुलाई महीने में शहनवाज को पकड़ा गया था। हालांकि, बाद में वो वहां से फरार हो गया था। जानकारी मिली थी कि वह साउथ दिल्ली के इलाके में कहीं छिपा हुआ था। वह अपने दो साथियों को पुणे में ब्लास्ट करने के लिए लाया था। वो दोनों पकड़े गए थे। उसी के बाद से शहनवाज की तलाश जारी है।

देश से फरार हुआ अब्दुल्ला!
एक और आतंकी रिजवान की भी तलाश है। वो शहनवाज के साथ है। वो इस पूरे मॉड्यूल में शामिल है और इस समय फरार बताया जा रहा है। वहीं,अब्दुल्ला के बारे में अभी तक जो जानकारी निकलकर आ रही है कि वो ओमान या वहां के आसपास किसी देश में जाकर छिप गया है। पुलिस इस पूरे मॉड्यूल में शामिल लोगों की तलाश कर रही थी। पुलिस लगातार गिरफ्तारियां कर रही थी। उसी दौरान मौका देखकर वह देश से फरार हो गया।

इसे भी पढ़े   लॉरेंस बिश्नोई गैंग ने सुक्खा हत्याकांड की ली जिम्मेदारी

कहां छिपा है लियाकत?
इसके अलावा चौथा आतंकी लियाकत है। माना जा रहा है कि ये भी दिल्ली के आसपास के इलाके में छिपा हुआ है। जान लें कि NIA ने इन आतंकियों के ऊपर 3-3 लाख रुपये का इनाम रखा हुआ है। मल्टी एजेंसी इन आतंकियों की तलाश में लगी हुई हैं। मल्टी एजेंसी का मतलब है कि 1 से ज्यादा एजेंसी किसी मामले की जांच में शामिल हों और एक-दूसरे के साथ इनपुट शेयर करती हों। इस मामले की जांच NIA,पुणे पुलिस और दिल्ली पुलिस कर रही है।


ख़बर को शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *