प्रसूता की मौत मामले में नया मोड़,पीड़ित पक्ष पर दर्ज कराया गया केस,दो नामजद सहित 12 पर हत्या के प्रयास का आरोप

प्रसूता की मौत मामले में नया मोड़,पीड़ित पक्ष पर दर्ज कराया गया केस,दो नामजद सहित 12 पर हत्या के प्रयास का आरोप
ख़बर को शेयर करे

सोनभद्र । पंचशील हास्पीटल में प्रसव के लिए लाई गई प्रसूता की सिजेरियन के बाद हालत बिगड़ने, वाराणसी स्थित मांधाता हास्पीटल में मौत होने के बाद, दोनों अस्पतालों के प्रबंधक और चिकित्सक के खिलाफ एफआईआर के बाद, अब अस्पताल खेमे की तरफ से पलटवार की स्थिति सामने आई है। कम्हारी निवासी विमलेश की तहरीर पर राबटर्सगंज पुलिस ने ईश्वरी और राहुल विश्वकर्मा के खिलाफ नामजद तथा आठ-दस अज्ञात के खिलाफ धारा 307, 147, 504, 506 आईपीसी के तहत मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है। उधर, इस मामले में पीड़ित पक्ष खेमे पर एफआईआर को लेकर जहां अधिवक्ताओं की तरफ से तीखी प्रतिक्रिया जताई गई है। वहीं, गत शनिवार की अर्धरात्रि के बाद, सिर पर ईंट से वार करने की घटना को झूठा बताया गया है।

बताते चलें कि राबटर्सगंज कोतवाली क्षेत्र के कम्हारी गांव निवासी अधिवक्ता सतीश कुमार विश्वकर्मा की तरफ से पंचशील और मांधाता हास्पीटल के प्रबंधक-चिकित्सक के खिलाफ शनिवार की अर्धरात्रि गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज कराया था। वहीं, नाराज लोगों ने कोतवाली के बगल स्थित पंचशील हास्पीटल पर हंगामा करते हुए मामले में कार्रवाई की मांग की थी। रात में ही मौके पर पहुंचे एसडीएम ने अधिवक्ताओं को न्याय दिलाने का भरेासा दिया था। वहीं, सीएमओ की तरफ से प्रकरण में जांच टीम गठित कर, विस्तृत रिपोर्ट मांगी गई थी। वहीं, सदर विधायक की तरफ से पंचशील हास्पीटल की व्यवस्था पर सवाल उठाए गए थे। अभी इस मामले में स्वास्थ्य महकमे की तरफ से कोई कार्रवाई या पुलिस एफआईआर के बाद कदम आगे बढ़ाती, इससे पहले आरोपी खेमे की तरफ से एक तहरीर पुलिस के पास पहुंची गई।

इसे भी पढ़े   मैनपुरी लोकसभा सीट पर सपा बड़ी जीत की तरफ, शिवपाल ने जनता का जताया आभार

यह लगाया गया है आरोप:
हालांकि इस तहरीर में घटना का जिक्र न करते हुए बस इस बात का जिक्र कम्हारी निवासी विमलेश की तरफ से किया गया है कि वह गत शनिवार की रात दो बजे के करीब अपने घर जा रहा था। पंचशील हास्पीटल के सामने पहुंचा देखा कि वहां भीड़ लगी थी। यह देख वह, वहां रूक गया। तभी वहां मौजूद चुर्क पुलिस चौकी क्षेत्र के मुसही गांव निवासी ईश्वर विश्वकर्मा (प्रसूता के अधिवक्ता पति सतीश विश्वकर्मा के चचिया ससुर), राहुल विश्वकर्मा और आठ-दस अज्ञात लोग उसकी लात-घूंसे से पिटाई करने लगे। जान बचाकर भागा तो वह लोग दौड़ा लिए। चौहान पेट्रोल पंप के पास जाकर जान मारने की नियत से सिर पर ईंट से जोरदार प्रहार कर दिए। इससे वह मौके पर गिरकर बेहोश हो गया। उसके परिचित राजेश चौधरी ने पुलिस को सूचनपा दी। इसके बाद पुलिस उसे लेकर जिला अस्पताल पहुंची। होश में आने पर उसने पुलिस को घटना की पूरी जानकारी दी। पुलिस का कहना था कि प्रकरण में मामला दर्ज कर छानबीन की जा रही है।


ख़बर को शेयर करे

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *