Sunday, August 14, 2022
spot_img
Homeउत्त्तर प्रदेशआगराVijay Mishra : भदोही में पूर्व विधायक विजय मिश्रा के पेट्रोल पंप...

Vijay Mishra : भदोही में पूर्व विधायक विजय मिश्रा के पेट्रोल पंप से एके -47 रायफल, विदेशी पिस्टल तथा कारतूस बरामद

Updated on 04/August/2022 5:12:58 PM

भदोही। आगरा जेल में बंद विजय मिश्रा के बेटे विष्णु मिश्रा (Vishnu Mishra) की निशानदेही पर भदोही के गोपीगंज पुलिस ने विजय मिश्रा के पेट्रोल पंप पर छापा मारकर एक एके-47 रायफल (AK-47 Rifle), चार मैगजीन, 375 गोली के अलावा विदेशी पिस्टल (Foreign Pistol) तथा पिस्टल के नौ कारतूस बरामद किया है। पुलिस ने सभी को अपने कब्जे में लिया है।

गाजीपुर के जिलाधिकारी के आदेश पर पुलिस अधीक्षक रोहन पी बोत्रे व उपजिलाधिकारी हर्षिता तिवारी ने कार्रवाई की।

विष्णु मिश्रा के खिलाफ के खिलाफ उसके रिश्तेदार कृष्णमोहन तिवारी ने 2020 में संपत्ति हड़पने का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया था। उसके बाद उसके खिलाफ वाराणसी की एक गायिका ने दुष्कर्म का आरोप लगाते हुए एफआईआर दर्ज कराई। उस मामले में तत्कालीन विधायक विजय मिश्र भी आरोपी था। ऐसे में पुलिस ने विजय मिश्र को मध्य प्रदेश के आगर से गिरफ्तार कर लिया। विष्णु मिश्रा उसी समय से फरारी काट रहा था। उसकी तलाश में वाराणसी एसटीएफ (Varanasi STF) लगातार छापेमारी कर रही थी।

भगवान बुद्ध की तपोस्थली सारनाथ में बन रहा 30 बेड का निर्माणधीन मल्टी स्पेशलिटी अस्पताल का निरीक्षण करेंगे।

उसी बीच करीब आठ महीने पहले अनापुर में विष्णु के छिपे होने की सूचना मिली। जब एसटीएफ की टीम पहुंची तो वह वहां से फरार हो गया। उस मामले में भी मुकदमा दर्ज किया गया था। बीते दिनों एसटीएफ ने एक लाख रुपये के इनामी विष्णु मिश्र को पुणे से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस अधीक्षक (SP Bhadohi) डा. अनिल कुमार ने बताया कि विष्णु की निशानदेही पर अत्याधुनिक हथियार, कारतूस आदि बरामद किए गए हैं।

ज्ञानपुर के पूर्व विधायक विजय मिश्र को गुरुवार को एसीजेएम पंचम उज्ज्वल उपाध्याय की कोर्ट में पेश किया गया।

एसपी डा. अनिल कुमार ने बताया कि आरोपित विष्णु मिश्र को रिमांड पर लेकर पूछताछ की गई। उसके बताए गए कई ठिकानों पर जांच की गई। अमवा पेट्रोल पंप पर यह बरामदगी हुई। यह असलहे कहां से आए थे, इसको लेकर पुलिस जांच कर रही है। पूर्व विधायक के संबंध मुख्तार (Mukhtar Ansari) से भी रहे हैं।

jagran

यह भी खंगाला जा रहा है कि उसके साथ किन-किन घटनाओं में शामिल रहा है। सामूहिक दुष्कर्म एवं रिश्तेदार की फर्म हड़पने के आरोप में विष्णु मिश्र फरार चल रहा था। उसे वाराणसी एसटीएफ ने 25 जुलाई को पुणे से गिरफ्तार किया था। उसके ऊपर एडीजी वाराणसी की ओर से एक लाख का इनाम भी घोषित किया था। इस मामले में पूर्व विधायक विजय मिश्र, नाती विकास मिश्र, भतीजा मनीष मिश्रा और बेटा विष्णु जेल में हैं जबकि पूर्व एमएलसी रामलली मिश्र सहित अन्य अंतरिम जमानत पर हैं।

CUET 2022 : वाराणसी में सर्वर खराब होने पर परीक्षार्थियों का हंगामा, परीक्षा निरस्‍त

पूर्व विधायक को मध्य प्रदेश के आगर जिले से अगस्त, 2020 में गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। इन दिनों वह केंद्रीय जेल आगरा में बंद हैं। बेटा विष्णु के खिलाफ गोपीगंज और वाराणसी कोतवाली में पीड़िता को धमकी देने और जालसाजी के आठ मुकदमे दर्ज हैं। पूर्व विधायक विजय मिश्रा के साथ बेटे विष्णु पर भी दुष्कर्म, रिश्तेदार की संपत्ति हड़पने सहित कई मामलों के आरोप हैं।

विष्णु मिश्र को गोपीगंज पुलिस ने गुरुवार को कोर्ट रिमांड पर लिया। सुबह 10 बजे से शुरू हुआ कस्टडी रिमांड तीन बजे तक निर्धारित थी। इससे पहले ही पुलिस ने उससे पूछताछ करने के साथ ही उसे कुछ संदिग्ध स्थानों पर ले जाकर जांच भी की तो हथियारों का जखीरा मिला। पुलिस अभी और कई अन्य स्थानों पर भी जांच कर सकती है।  

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -spot_img