तंबाकू है जानलेवा रहे दूर,विश्व तम्बाकू दिवस 31 मई

तंबाकू है जानलेवा रहे दूर,विश्व तम्बाकू दिवस 31 मई
ख़बर को शेयर करे

नई दिल्ली। विश्व तम्बाकू निषेध दिवस 31 मई को हर साल विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा 1987 से मनाया जाता है। इसका उद्देश्य लोगों को तम्बाकू के उपयोग से होने वाली बिमारी से अवगत कराना होता है जिससे लोग इसका उपयोग कम करे। इस साल विश्व स्वास्थ्य संगठन की विषय (थीम) “हमें खाना चाहिए न कि तंबाकू ” है। स्वास्थ्यवर्धक खाद्यान्य का उत्पादन और उपयोग तम्बाकू की जगह करना चाहिए ।

तम्बाकू का नशे का मुख्य कारण उसमें पाया जाने वाला निकोटीन होता है। बच्चो और बड़ो में इसकी लत लग रही है जिससे आजकल के तनाव वाली जिंदगी में इसका उपयोग काफी बढ़ गया है। बीड़ी और सिगरेट के पीने से फेफरें (लंग्स) कमजोर होते हैं । स्मोकलेस तम्बाकू जो की गुटका, पान, खैनी, सुरती, सुघनी मंजन के द्वारा उपयोग किया जाता है इससे मुख और गले का कैंसर होता है। अगर तम्बाकू और शराब दोनो का उपयोग करने से कैंसर होने का खतरा कई गुना बढ़ जाता है। शरीर के सभी कैंसर में लगभग 27 % कैंसर तम्बाकू सेवन से होता है। इस समय यूथ को कैसे तम्बाकू एवं निकोटीन से बचाया जाए, इसकी प्राथमिकता होनी चाहिए। भारत में लगभग 27 करोड़ लोग तंबाकू का प्रयोग करते हैं। लगभग 12 करोड़ लोग धुम्रपान के आदी हैं। महिलाओं की अपेक्षा पुरुष कम उम्र में तंबाकू का उपयोग करते हैं,जिसकी औसत उम्र तंबाकू शुरू करने की लगभग 18.7 वर्ष हैं।एक अनुमान के मुताबिक


ख़बर को शेयर करे
इसे भी पढ़े   भदोही के पूर्व विधायक विजय मिश्र की सजा पर लगी रोक,अदालत से मिली राहत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *