होलिका दहन के दौरान धार्मिक नारेबाजी करने पर भिड़े दो गुट, मारपीट में छह लोग घायल; पांच गिरफ्तार

 होलिका दहन के दौरान धार्मिक नारेबाजी करने पर भिड़े दो गुट, मारपीट में छह लोग घायल; पांच गिरफ्तार
ख़बर को शेयर करे

विजयीपुर (गोपालगंज)। विजयीपुर थाना क्षेत्र के रामपुर गांव में होलिका दहन के दिन दो गुटों के बीच मारपीट हो गई। इस दौरान गांव के लोगों के आपसी समझौता के बाद मामला शांत हो गया। होली के दिन बुधवार को फिर से दोनों गुटाें के बीच मारपीट शुरू हो गई। मारपीट के दौरान करीब छह लोग जख्मी हो गए।

घटना की सूचना मिलने के बाद पुलिस ने आनन-फानन में दोनों गुटों से पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया। एसपी ने पूरी घटना की जानकारी लेने के बाद शांति समिति की बैठक कर माहौल को शांत करने का प्रयास किया।

जानकारी के अनुसार, मंगलवार की रात होलिका दहन के दौरान एक गुट के लोग धार्मिक नारेबाजी करने लगे। इसे लेकर मारपीट भी हो गई। इस दौरान दोनों गुट के लाेगों ने आपस में बैठकर समझौता कर लिया। एक गुट के लोग होली मनाने की तैयारी करने में जुट गए।

रामपुर गांव निवासी विकास यादव बुधवार को बाइक पर सवार होकर गांव में घूम रहे थे। इस दौरान उनकी बाइक से एक बकरी को धक्का लग गया। इसके बाद कुछ लोगों ने विकास यादव की जमकर पिटाई कर दी। इस दौरान विकास यादव के गुट के लोगों ने इरशाद अली सहित चार लोगों को मारपीट कर घायल कर दिया।

पांच गिरफ्तार
मारपीट की इस घटना में कुल छह लोग घायल हो गए। वहीं, मारपीट की सूचना पर एसपी के आदेश पर हथुआ एसडीपीओ नरेश कुमार मौके पर पहुंच कर एक गुट के सुजीत यादव और दूसरे गुट के इरशाद अली सहित पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिए। गिरफ्तार किए गए आरोपितों से पूछताछ की जा रही है।

इसे भी पढ़े   North कोरिया ने समुद्र में मिसाइलें दागी,कहीं बड़ी खतरे की आहट तो नहीं

पुलिस ने एक गुट के तीन और दूसरे गुट के दो को लोगों को गिरफ्तार किया है। वहीं, एसपी स्वर्ण प्रभात भी बुधवार की शाम को मौके पर पहुंच कर दोनों गुट के लोगों को बुलाकर शांति समिति की बैठक कर आपसी प्रेम और भाईचारा बनाए रखने की अपील की।

पहले सही जानकारी मिलती तो होती पुलिस अलर्ट-एसपी
एसपी ने कहा के इस मामले में जो भी दोषी हैं, उनलोगों पर कार्रवाई की जा रही है। एक गुट के लोगों ने पुलिस प्रशासन और मुखिया पर आरोप लगाते हुए कहा कि मामूली मारपीट के बाद घटना की जानकारी दी गई थी। होली की बात कह कर टाल दिया गया। अगर समय रहते पुलिस अलर्ट हो गई होती तो शायद यह घटना नहीं होती।

लोगों ने बताया कि होलिका दहन की रात नारा लगाते हुए मस्जिद की तरफ से कुछ युवाओं की टोली जा रही थी। इसके बाद से विवाद शुरू हुआ।


ख़बर को शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *