वाराणसी के जिलाधिकारी राजलिंगम ने कलेक्ट्रेट कार्यालयों का निरीक्षण किया

वाराणसी के जिलाधिकारी राजलिंगम ने कलेक्ट्रेट कार्यालयों का निरीक्षण किया

वाराणसी | वाराणसी के नवागत जिलाधिकारी एस राजलिंगम ने बुधवार सुबह कलेक्ट्रेट परिसर स्थित कार्यालयों का निरीक्षण किया। इस दौरान कई स्थानों पर गंदगी देख नाराजगी जताई। मौके पर मौजूद कर्मियों से साफ-सफाई पर कई सवाल दाग दिए जिसका वे जवाब नहीं दे सके। कर्मचारियों को टूटी कुर्सी पर बैठ कर काम करते देख हरानी जताई।  कहा कि टूटी कुर्सी पर बैठ कर काम करने से वैसे ही आपके आचार विचार होंगे। यह अच्छी बात नहीं है। इसका ध्यान रखें।

निरीक्षण के दौरान अनुपस्थित मिले 10 से ज्यादा कर्मचारियों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्यवाही के निर्देश दिए। नवागत डीएम सबसे पहले कलेक्टर कार्यालय पहुंचे और कर्मचारियों से उनके पद व कार्य के बारे में पूछताछ की।

नजारत के रिकॉर्ड रूम का मुआयना करते हुए ईआरके से रिकॉर्ड सबंधी बस्तों के रखरखाव और उसपर जमी धूल पर सवाल पूछे। बस्तों पर लगे लेबल को देख कर 30 साल पुराने रिकार्डस का डिस्पोजल/बीड आउट कराने का निर्देश एडीएम फाइनेंस को दिया और राजस्व रिकॉर्ड के डिजिटाइजेशन कराने को कहा। 

निरीक्षण के दौरान डीएम की नजर बरामदे में रखी टूटी हुई कुर्सी पर पड़ी तो नाराज हुए। तत्काल हटाने के लिए। जन्म-मृत्यु रिकॉर्ड रूम में अभिलेखों को देखा।  आरआरके से राजस्व रिकार्ड की नकल देने की प्रक्रिया में लगने वाले समय और अर्जेंट नकल देने की फीस आदि के बारे में सवाल जवाब किया। एडीएम फाइनेंस को रिकॉर्ड के बेहतर तरीके से रखरखाव के बारे में प्लान तैयार करने का निर्देश दिया।

डिप्टी कलेक्टर राजस्व के कार्यालय का निरीक्षण किया जहां पर पेशकार के अनुपस्थित रहने पर कार्रवाई करने का निर्देश दिया। सीआरए सेक्शन के काशी नाथ, आशा अफजल, उमेश, प्रणय भट्टाचार्य, बेचू, नेहा बहादु, बिल क्लर्क दिनेश, आनंद तिवारी के अनुपस्थित रहने पर अनुशासनात्मक कार्यवाही के निर्देश दिए। इस दौरान एडीएम सिटी, एडीएम फाईनेंस, एसीएम व अन्य संबंधित अधिकारी मौके पर मौजूद रहे।

इसे भी पढ़े   रिश्तेदारी में जाने के लिए निकला शख्स ,रेलवे ट्रैक पर मिला शव

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *