UBS के क्रेडिट सुइस बैंक टेकओवर के बाद भारत में काम करने वाले कर्मचारियों पर क्या पड़ेगा असर

UBS के क्रेडिट सुइस बैंक टेकओवर के बाद भारत में काम करने वाले कर्मचारियों पर क्या पड़ेगा असर
ख़बर को शेयर करे

नई दिल्ली। आर्थिक संकट में फंसे के क्रेडिट सुइस बैंक को डूबने से बचाने के लिए स्विट्जरलैंड के सबसे बड़े बैंक UBS से इसे खरीद लिया है। UBS ग्रुप ने क्रेडिट सुइस बैंक को 3.25 अरब डॉलर में खरीदने का ऐलान कर दिया है। गौरतलब है कि क्रेडिट सुइस बैंक 165 साल पुराना स्विट्जरलैंड का बैंक है। बैंक के बिकने की खबर के बाद उसके कर्मचारियों के बीच अनिश्चितता का माहौल बना हुआ है। बिजनेस टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक बैंक के भारत में कुल 15,000 कर्मचारी है जिनके भविष्य पर सवाल खड़ा हो गया है। बैंक ने अपने कर्मचारियों को लेकर अभी तक कोई आधिकारिक बयान नहीं दिया है, मगर एक्सपर्ट्स आने वाले दिनों में बड़े लेवल पर छंटनी की आशंका जता रहे हैं।

भारत में काम करते हैं 15,000 कर्मचारी
गौरतलब है कि क्रेडिट सुइस बैंक के भारत में कुल 15,000 कर्मचारी है। कर्मचारियों के मामले में स्विट्जरलैंड के बाद भारत में बैंक के सबसे ज्यादा कर्मचारी है। भारत में काम करने वाले कर्मचारियों में से 5,000 से 7,000 लोग डायरेक्ट ऑपरेशन के काम को देखते हैं। वहीं बाकी कर्मचारी ग्लोबल आईटी ऑपरेशन को संभालते हैं। भारत में बैंक के कुल 6 शहरों में ऑफिस है। यह शहर है मुंबई, पुणे, गुरुग्राम, बेंगलुरु, हैदराबाद और कोलकाता। इसके साथ ही सुइस क्रेडिट बैंक ने यह जानकारी दी है कि उसके आईटी ऑपरेशन में काम करने वाले 25 फीसदी भारतीय कर्मचारी वर्क फ्रॉम होम से काम करते हैं। बैंक का IT हिस्सा मुख्य रूप से भारत से हैंडल किया जाता है।

इसे भी पढ़े   सोनभद्र में बेकाबू ट्रक की चपेट में आने से युवक की मौत

ग्राहकों के 28,000 करोड़ रुपये बैंक में हैं जमा
मार्च 2022 की रिपोर्ट के अनुसार क्रेडिट सुइस बैंक में भारतीय निवेशकों के करीब 28,000 करोड़ रुपये जमा है। इसमें लोन और एडवांस की राशि 947 करोड़ रुपये है। वहीं बैंक का कुल इनकम 804 करोड़ और बैंक का शुद्ध लाभ 302 करोड़ रुपये है। बैंक के अनुसार स्विट्जरलैंड के बाद भारत में उसका सबसे ज्यादा कर्मचारी बेस है। ऐसे में बैंक के बिकने के बाद उसके हजारों कर्मचारियों पर असर पड़ेगा।

भारत में बैंक का क्या होगा भविष्य
एक्सपर्ट्स के मुताबिक UBS के बैंक के टेकओवर के बाद निश्चित रूप से कर्मचारियों पर बुरा असर पड़ेगा। फिलहाल UBS ने इस मामले पर किसी तरह का बयान नहीं दिया है। क्रेडिट सुइस बैंक के बार भारत में कारोबार करने का लाइसेंस था। वहीं UBS ने सालों पहले अपने कारोबार को भारत में बंद कर दिया था। ऐसे में आने वाले वक्त में बैंक का भारत में क्या भविष्य होगा इस पर साफ-साफ कुछ भी कह पाना मुश्किल है। कई एक्सपर्ट्स का यह मानना है कि आने वाले वक्त में बैंक अपने कारोबार को भारत में बंद कर दें मगर आईटी ऑपरेशन को जारी रखें। अगर बैंक ऐसा करता है तो वह बड़े पैमाने पर कर्मचारियों की छंटनी कर सकता है।


ख़बर को शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *