केसीआर की बेटी कविता को ईडी ने क्यों किया गिरफ्तार? जानिए क्या हैं आरोप

केसीआर की बेटी कविता को ईडी ने क्यों किया गिरफ्तार? जानिए क्या हैं आरोप
ख़बर को शेयर करे

नई दिल्ली। तेलंगाना के पूर्व मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव की बेटी के. कविता को ईडी ने गिरफ्तार कर लिया है। प्रवर्तन निदेशालय की टीम ने शुक्रवार को दिल्ली शराब घोटाला केस में भारत राष्ट्र समिति (BRS) की एमएलसी कविता के आवास पर छापेमारी की। मनी लॉन्ड्रिंग मामले में रेड के बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। कुछ घंटों तक चली तलाशी के बाद ईडी अधिकारी उन्हें लेकर दिल्ली रवाना हो गए। वहीं जैसे ही के कविता को गिरफ्तार करने की जानकारी फैली उनके आवास के बाहर अफरातफरी का माहौल हो गया। भारत राष्ट्र समिति के नेताओं ने इस कार्रवाई पर सवाल उठाए। उन्होंने इस गिरफ्तारी को अवैध बताया। आखिर केसीआर की बेटी के. कविता पर क्या आरोप हैं जिसके चलते उन्हें ईडी टीम ने गिरफ्तार कर लिया।

ED ने इसलिए किया के. कविता को अरेस्ट
बीआरएस नेता के कविता को उसी दिल्ली शराब घोटाला केस में गिरफ्तार किया गया है, जिसमें अरविंद केजरीवाल सरकार में डिप्टी सीएम रहे मनीष सिसोदिया को अरेस्ट किया गया। उनके बाद आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह भी गिरफ्तार किए गए थे। जानकारी के मुताबिक, ईडी की टीम ने बीआरएस नेता के कविता को दो समन किए थे। हालांकि, कविता ने इसे नजरअंदाज किया। यही नहीं उन्होंने ईडी के समन को लेकर सुप्रीम कोर्ट में जमानत याचिका भी लगाई। हालांकि, सर्वोच्च अदालत ने इस पर सुनवाई 19 मार्च तक सुनवाई स्थगित कर दिया। इसी बीच ईडी की टीम ने शुक्रवार को शाम को के कविता को गिरफ्तार कर लिया। अब सवाल ये कि दिल्ली शराब घोटाले में साउथ का क्या कनेक्शन है और केसीआर की बेटी का नाम इसमें कहां से आया जानिए।

इसे भी पढ़े   नोरा फतेही को अली कुली मिर्जा ने मारा था चांटा, दोनों के बीच हुई थी जबरदस्त मारपीट, एक्टर ने अब तोड़ी चुप्पी

लोकसभा चुनाव की तारीखों के ऐलान से एक दिन पहले कार्रवाई
कविता की गिरफ्तारी लोकसभा चुनाव कार्यक्रम की घोषणा से एक दिन पहले हुई है। के कविता के खिलाफ मुख्य आरोप यह है कि वह साउथ लॉबी का हिस्सा थीं। उन्होंने दिल्ली की उत्पाद शुल्क नीति तैयार करने में अरविंद केजरीवाल सरकार के मंत्रियों और अन्य लोगों के साथ साजिश रची थी। कविता पर दागी कंपनी इंडोस्पिरिट्स में बेनामी निवेश करने का आरोप है। ईडी आरोप लगा रही है कि घोटाले में 100 करोड़ रुपये की रिश्वत ली गई और पैसा हैदराबाद से दिल्ली ले जाया गया।

दिल्ली शराब घोटाला केस में कैसे आया कविता का नाम
दिल्ली शराब घोटाला केस में जांच एजेंसी ईडी ने दावा किया था कि के. कविता शराब कारोबारियों की लॉबी ‘साउथ ग्रुप’ से जुड़ी हुई थीं। ये 2021-22 के लिए दिल्ली आबकारी नीति में एक बड़ी भूमिका निभाने की कोशिश कर रही थीं। यह नीति अब रद्द की जा चुकी है। आरोप है कि साउथ के इस ग्रुप और दिल्ली की सत्ताधारी आम आदमी पार्टी के बीच एक डील हुई थी। जिसमें इस ग्रुप ने आम आदमी पार्टी को 100 करोड़ रुपये का पेमेंट भी किया था। जांच एजेंसियों के मुताबिक रामचंद्र पिल्लई ने कविता की तरफ से इस डील में प्रतिनिधि के तौर पर काम किया था।

ईडी ने दावा किया कि हैदराबाद के कारोबारी रामचंद्र पिल्लई ने के. कविता और अन्य के कथित शराब कार्टल साउथ ग्रुप का प्रतिनिधित्व किया था। ईडी ने पिछले साल सितंबर से अब तक पिल्लई से कम से कम दर्जनों बार पूछताछ की। एजेंसी का दावा है कि पूरे दिल्ली आबकारी घोटाले के प्रमुख व्यक्तियों में से वह एक है, जिसमें भारी रिश्वत का पेमेंट और साउथ ग्रुप के सबसे बड़े कार्टल का गठन शामिल है। ईडी ने कोर्ट को बताया कि साउथ ग्रुप में शरत रेड्डी (अरबिंदो फार्मा के प्रवर्तक), मगुनता श्रीनिवासुलु रेड्डी (ओंगोल लोकसभा सीट से वाईएसआर कांग्रेस सांसद), के कविता (तेलंगाना के पूर्व मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव की बेटी) और अन्य शामिल हैं।

इसे भी पढ़े   हर एक वोट जरूरी होता है…सियासी दलों के लिए क्यों जरूरी हुआ 'नारी शक्ति वंदन

ऐसे कविता के खिलाफ ED ने बढ़ाई जांच
जांच एजेंसी के मुताबिक, जून 2021 में हैदराबाद के आईटीसी कोहिनूर में एक बैठक हुई थी। इस मीटिंग में विजय नायर ने कुछ फंडों पर चर्चा की थी, जिन्हें हैदराबाद से दिल्ली ट्रांसफर किया जाना था। उन्होंने यह जिम्मेदारी दिनेश को सौंपी और उनसे इसके लिए कविता के एक अन्य सहयोगी अभिषेक बोइनपल्ली के साथ बातचीत के लिए कहा गया। बाद में मगुंटा राघव रेड्डी और शरत चंद्र रेड्डी जैसे आरोपी सरकारी गवाह बन गए और के कविता के खिलाफ बयान दिए। इस मामले में के कविता से पिछले साल ईडी की टीम ने पूछताछ भी किया था।

कविता… अब हुई गिरफ्तार
जानकारी ये भी मिल रही कि दिल्ली शराब पॉलिसी केस में ईडी की टीम ने पिछले साल एक आरोपी अमित अरोड़ा को रिमांड पर लिया था। उसी ने कविता का नाम लिया था। जिसके बाद ईडी की टीम ने के कविता को पूछताछ के लिए समन किया था। हालांकि, प्रवर्तन निदेशालय के सामने वो नहीं पहुंचीं। बैक टू बैक दो समन के बाद अब जांच एजेंसी ने हैदराबाद में छापेमारी के बाद के कविता को गिरफ्तार कर लिया।


ख़बर को शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *