Thursday, May 26, 2022
spot_img
Homeराष्ट्रीयइसी Xiaomi को 10 करोड़ रुपए दान करने की अनुमति दी

इसी Xiaomi को 10 करोड़ रुपए दान करने की अनुमति दी

Updated on 30/April/2022 7:12:03 PM

नई दिल्ली। प्रवर्तन निदेशालय (ED) की ओर से शनिवार शाओमी (Xiaomi) टेक्नोलॉजी इंडिया प्राइवेट लिमिटेड पर शिकंजा कसे जाने बाद तृणमूल कांग्रेस की सांसद महुआ मोइत्रा ने सरकार पर सवाल उठाया है। तृणमूल सांसद महुआ मोइत्रा ने कहा कि इसी Xiaomi को ‘अपारदर्शी’ पीएम केयर्स फंड में 10 करोड़ रुपए दान करने की अनुमति दी गई थी।

साल 2020 में कोरोना वायरस महामारी की पहली लहर के दौरान कांग्रेस की ओर से उठाए गए मुद्दे की बात करते हुए महुआ मोइत्रा ने कहा कि ऐसे सवालों को संसद में अनसुना कर दिया जाता है। तृणमूल कांग्रेस की नेता ने कहा ‘ईडी ने विदेशी मुद्रा कानून के उल्लंघन के लेकर शायोमी की 5500 करोड़ की संपत्ति जब्ती की है। उसी शायोमी ने अपारदर्शी पीएम केयर्स फंड को 10 करोड़ रुपए दान करने की अनुमति दी गई थी।’ प्रवर्तन निदेशालय ने कहा कि कंपनी के बैंक खातों में पड़े 5,551.27 करोड़ रुपए को एजेंसी ने विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम की संबंधित धाराओं के तहत जब्त कर लिया है।

प्रवर्तन निदेशालय ने शनिवार को कहा कि उसने शाओमी टेक्नोलॉजी इंडिया प्राइवेट लिमिटेड से संबंधित 5,551.27 करोड़ रुपए जब्त किए हैं। यह कार्रवाई 1999 के विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम के प्रावधानों के तहत की गई है। जांच एजेंसी ने कहा कि पैसा चीनी स्मार्टफोन के बैंक खातों में था और इसे सीज किया गया है।

शायोमी भारत में एमआई (MI) फोन बेचती है। कंपनी ने 2014 में भारत में अपना परिचालन शुरू किया और 2015 से पैसा भेजना शुरू किया। इस महीने की शुरुआत में ईडी ने समूह के ग्लोबल वाइस प्रेसिडेंट मनु कुमार जैन से पूछताछ की थी। शाओमी की भारतीय स्मार्ट फोन बाजार में 24% की हिस्सेदारी है। इसके साथ ही साल 2021 में शाओमी भारत में सर्वाधिक बिकने वाला स्मार्टफोन भी है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -spot_img