अनिल अंबानी के लौट रहे अच्छे दिन,बनाई चार नई कंपनी,शेयरों ने लगाई लंबी छलांग

अनिल अंबानी के लौट रहे अच्छे दिन,बनाई चार नई कंपनी,शेयरों ने लगाई लंबी छलांग
ख़बर को शेयर करे

नई दिल्ली। भारी भरकम कर्ज में डूबे अनिल अंबानी ने अपनी कंपनियों को बिगड़ती हालात को सुधारने का रास्ता तलाश लिया है । एक ओर जहां अनिल अंबानी की कंपनियों पर कर्ज को बोझ बढ़ता जा रहा है तो वहीं अनिल अंबानी ने चार नई कंपनियों को शुरू कर ली है। रिलायंस इंफ्रास्ट्रक्चर के प्रमोटर अनिल अंबानी ने चार नहीं कंपनी शुरू कर दी है। रिलायंस इंफ्रास्ट्रक्चर की रिलायंस वेलोसिटी लिमिटेड ने रिलांयंस ईवी प्राइवेट लिमिटेड की शुरुआत की है।

अनिल अंबानी की नई कंपनियां
अनिल अंबानी प्रमोटेड रिलायंस इंफ्रास्ट्रक्चर पर कर्ज का बोझ है। रिलायंस इंफ्रा ने इस बोझ को कम करने के लिए नया प्लान बनाया है। इस प्लान के तहत रिलायंस इंफ्रास्ट्रक्चर विदेशी मुद्रा परिवर्तनीय बांड के जरिए 350 मिलियन अमेरिकी डॉलर (3000 करोड़ रुपये) जुटाने की तैयारी कर रही है। इस रकम का इस्तेमाल वो अपने कर्ज को कम करने के साथ-साथ नया बिजनेस शुरू करने के लिए इस्तेमाल करेंगे। रिलायंस इंफ्रा जो कि रोड कंट्रक्शन, मेट्रो रेल और पावर जेनेरेटिंग के काम में जुड़े हैं चार नई कंपनियां शुरू कर रहे हैं।

रिलायंस इंफ्रास्ट्रक्चर की ओर से नियामक फाइलिंग को इसकी जानकारी दी। इसके बाद पिछले हफ्ते अनिल अंबानी को चार कंपनियां शुरू करने की योजना को भी मंजूरी मिल गई। रोड, मेट्रो ट्रेन और पॉवर प्रोडक्शन की मैन्युफैक्चरिंग में जुटी कंपनी रिलायंस इंफ्रा अब अपना विस्तार कर रही है। रिलायंल इंफ्री की रिलायंस वेलोसिटी लिमिटेज ने रिलायंस ईवी प्राइवेंट लिमिटेड को नई कंपनी बनाई है।कंपनी की ओर से शेयर मार्केट को दी गई जानकारी के मुताबिक नई सहायत कंपनी का मकसद किसी भी तरह के ईंधन का इस्तेमाल कर परिवहन या परिवहन वाहनों के इक्युकपेंट की मैन्युफैक्टकिंग डील करना।

इसे भी पढ़े   सर्जिकल स्ट्राइक पर विवादित बयान से कांग्रेस की फजीहत, दिग्विजय सिंह बोले- भारतीय जवानों का सम्मान करता हूं

कौन-कौन सी नई कंपनियां
अनिल अंबानी की रिलायंस इंफ्रास्ट्रक्चर ने चार नई सहायक कंपनियां रिलायंस जय प्राइवेट लिमिटेड,रिलायंस अनलिमिट प्राइवेट लिमिटेड,रिलायंस ईवी प्राइवेट लिमिटेडऔर रिलायंस राइज प्राइवेट लिमिटेड शुरू करने का ऐलान किया है। ये नई कंपनियां पावर प्रोडक्शन,इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी, बेसिक इंफ्राटेक्चर और ईंधन परिवहन का काम करेंगी।

कंपनी पर कितना लोन
अनिल अंबानी की कंपनी के पास गैर-परिवर्तनीय डिबेंचर पर टर्म लोन के रूप में 2253 करोड़ रुपये और 703 करोड़ रुपये के लोन की सुविधा है। अनिल अंबानी की कंपनी पर यस बैंक का 1505 करोड़ रुपये का टर्म लोन है तो वहीं केयर रेटिंग की रिपोर्ट के मुताबिक आईडीबीआई बैंक, जम्मू और कश्मीर बैंक और एक्सिस बैंक का क्रमशः 600 करोड़ रुपये, 82 करोड़ रुपये और 66 करोड़ रुपये का लोन है। अनिल अंबानी कारोबार को फिर से खड़ा करने की कोशिशों में जुट गए हैं। वो कंपनी पर भारी भरकम कर्ज के बोझ को कम करना चाहते हैं। कंपनी ने जेसीएफ एआरसी के 1347 करोड़ रुपये का पेमेंट किया है। इसी तरह से कंपनी अपने बाकी कर्जों को भी पूरा करने की कोशिश में जुट गई है।

शेयर बने रॉकेट
इस खबर के आते ही अनिल अंबानी की कंपनी के शेयर में जबरदस्त देती आई। बाजार खुलने के साथ ही रिलायंस इंफ्रास्ट्रक्चर के शेयर 12 फीसदी तक उछल गए। शुक्रवार को शेयर जहां 168.20 रुपये पर बंद हुए थे, वहीं सोमवार को बाजार खुलते ही रिलायंस इंफ्रा के शेयर 175 रुपये पर पहुंच गए। कुछ दी देर में शेयर 192.70 रुपये पर पहुंच गया। इस शेयर में 12 फीसदी से अधिक की तेजी आई। अगर रिलायंस इंफ्रा का मार्केट कैप देखें तो ये 7340 करोड़ रुपये का है।

इसे भी पढ़े   बक्सर में किसानों पर लाठीचार्ज को लेकर बीजेपी ने नीतीश सरकार पर साधा निशाना,बोले…

ख़बर को शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *