भूत-प्रेत संग झूमे और खेली चिता भस्म से होली, हरिश्चंद्र घाट पर उमड़ा हुजूम

 भूत-प्रेत संग झूमे और खेली चिता भस्म से होली, हरिश्चंद्र घाट पर उमड़ा हुजूम
ख़बर को शेयर करे

वाराणसी | रंगभरी एकादशी पर जहां काशी विश्वनाथ धाम में बाबा और मां गौरा के साथ भक्त होली खेल रहे थे तो वहीं हरिश्चंद्र घाट पर मसान की होली में बाबा के गण और उनके भक्तों का हुजूम उमड़ा था। भूत-प्रेत संग बाबा के गणों ने हरिश्चंद्र घाट पर चिता भस्म की होली खेली। देश-विदेश से इस होली को देखने घाट पर लोग पहुंचे थे। अबीर-गुलाल और भस्म उड़ाते हुए होली गीतों की धुन पर सभी के पांव थिरकते रहे।

काशी मोक्षदायिनी सेवा समिति की ओर से हरिश्चंद्र घाट पर संस्था के अध्यक्ष पवन कुमार चौधरी ने सुबह बाबा मशाननाथ का रुद्राभिषेक व पूजन किया। दोपहर में रवींद्रपुरी स्थित बाबा कीनाराम मंदिर में पूजन के बाद भव्य शोभायात्रा निकाली गई। भूत-प्रेत, देवों की झांकी देखते बन रही थी। भूत-प्रेत के स्वरूप करतब दिखाते चल रहे थे। कहीं, शहनाई की धुन तो कहीं बैंडबाजे व ढोल-नगाड़े पर युवा थिरक रहे थे। डीजे पर होली गीत बज रहे थे। किन्नरों का दल भी लोकनृत्य कर रहा था। शोभायात्रा भेलूपुर, सोनारपुरा होते हुए करीब दो घंटे में हरिश्चंद्र घाट पहुंची, जहां बाबा की आरती उतारी गई। वहीं, घाट का कोना-कोना होलियाना माहौल में डूबा था। हर ओर खासकर युवाओं की टोलियां झूमती रहीं। भूत-प्रेत, महादेव और काली आदि देवों के स्वरूपों संग लोग भी चिता भस्म से होली खेलते रहे। शोभायात्रा में समिति के उपाध्यक्ष गोपाल प्रसाद, बहादुर चौधरी, विकास रावत, राजश्री शुक्ला, आशीष चौधरी आदि शामिल रहे।

बीएचयू की छात्राएं व विदेशी भी थे मगन
देश-विदेश में चर्चित मसान की होली को देखने के लिए कई शहरों और विदेशों से लोग पहुंचे थे। उन पर होलियाना रंग चढ़ा था। अबीर-गुलाल से सराबोर बीएचयू के छात्र व छात्राओं की टोलियां भी बाबा का दर्शन कर झूम रही थीं।

इसे भी पढ़े   रमजान में मुस्लिम खजूर से ही क्यों खोलते हैं रोजा? जानें इसका वैज्ञानिक कारण

ड्रोन कैमरे से किया होली को कैद
मसाने की होली को कैमरे में कैद करने के लिए हर ओर होड़ मची थी। लोग कैमरे व मोबाइल से वीडियो बनाने व फोटो खींचने में लगे थे, वहीं, घाट पर करीब दर्जन भर ड्रोन कैमरे से भी इस अनूठी होली की जीवंतता को कैद किए।


ख़बर को शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *