बीआरएस नेता के कविता से ED की पूछताछ जारी, व्यापारी अरुण पिल्लई से हो सकता आमना-सामना

बीआरएस नेता के कविता से ED की पूछताछ जारी, व्यापारी अरुण पिल्लई से हो सकता आमना-सामना
ख़बर को शेयर करे

नई दिल्ली | दिल्ली शराब नीति मामले में दिल्ली से लेकर तेलंगाना तक ईडी और सीबीआई का शिकंजा कसता जा रहा है। इस बीच आज तेलंगाना के सीएम केसीआर की बेटी और पार्टी एमएलसी के कविता ईडी के दफ्तर पेशी के लिए पहुंच गई हैं। कविता से ईडी शराब घोटाले में पूछताछ कर रही है।

बीआरएस कार्यकर्ता का प्रदर्शन
पेशी से पहले ही आज बीआरएस कार्यकर्ता तेलंगाना के सीएम और पार्टी प्रमुख के चंद्रशेखर राव के दिल्ली आवास के बाहर ईडी की कार्रवाई का विरोध करने को जुट गए। कार्यकर्ताओं ने ईडी की कार्रवाई को भाजपा की साजिश करार दिया।

जंतर-मंतर पर कविता ने की भूख हड़ताल
इससे पहले शुक्रवार को कविता ने संसद के मौजूदा बजट सत्र में महिला आरक्षण विधेयक पेश करने की मांग को लेकर राष्ट्रीय राजधानी में जंतर-मंतर पर भूख हड़ताल शुरू की। शुक्रवार को दिल्ली में होने वाली अपनी भूख हड़ताल का हवाला देते हुए, उसने जांच एजेंसी से शनिवार तक अपनी पूछताछ स्थगित करने को कहा।

मनीष सिसोदिया की हो चुकी गिरफ्तारी
खास बात यह है कि दिल्ली के पूर्व डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया को ईडी ने इसी मामले में गिरफ्तार किया है। ईडी द्वारा पूछताछ के लिए समन जारी किए जाने के कुछ घंटे बाद कविता आठ मार्च को राष्ट्रीय राजधानी पहुंची थीं। वहीं, उनके भाई और बीआरएस नेता के टी रामाराव भी शुक्रवार को राष्ट्रीय राजधानी में अपने पिता के आवास पर पहुंचे।

से होगा आमना सामना
सूत्रों के मुताबिक, कविता को हैदराबाद के व्यवसायी अरुण रामचंद्र पिल्लई के साथ आमने-सामने बिठाया जाएगा, जिन्हें सोमवार रात शराब नीति मामले में गिरफ्तार किया गया था। कविता ने समन को तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव और बीआरएस के खिलाफ केंद्र द्वारा “डराने की रणनीति” करार दिया है। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी केंद्र की विफलताओं से लड़ना और उजागर करना जारी रखेगी और भारत के उज्जवल और बेहतर भविष्य के लिए आवाज उठाएगी।

इसे भी पढ़े   CBI के सामने आज पेश नहीं होंगे तेजस्वी यादव, पत्नी राजश्री की तबीयत बिगड़ी; दिल्ली के निजी अस्पताल में भर्ती

कविता ने एक ट्वीट में कहा, “मैं केंद्र में सत्ताधारी पार्टी को यह बताना चाहूंगी कि हमारे नेता, सीएम केसीआर की आवाज हमेशा बुलंद रहेगी और पूरी बीआरएस पार्टी के खिलाफ डराने-धमकाने की ये रणनीति हमें नहीं रोक पाएगी।”


ख़बर को शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *