शाम होते ही गोवा जैसी फीलिंग, पेंट हाउस, साइलेंट जोन और सनबाथ, देखते रह जाएंगे ये इंतजाम

शाम होते ही गोवा जैसी फीलिंग, पेंट हाउस, साइलेंट जोन और सनबाथ, देखते रह जाएंगे ये इंतजाम
ख़बर को शेयर करे

वाराणसी | वाराणसी में गंगापार टेंट सिटी आकार ले रही है। पर्यटकों के लिए यह रोमांचकारी अनुभव होगा। उत्तर वाहिनी गंगा के पूर्वी छोर पर रेत में बसाई जा रही टेंट सिटी में ठहरने वाले सैलानियों को खास अनुभूति होगी। देश में पहली बार टेंट सिटी में पेंट हाउस की सुविधा मिलने वाली है और यह खास पेंट हाउस की छत से गंगा में विहार करने वाले साइबेरियन को भी रिझाया जा सकेगा। दो जगहों पर बसाई जा रही टेंट सिटी में विशेष बात यह भी है कि इसमें हर कॉटेज को गंगा फेसिंग से जोड़ा गया है।

इसके अलावा साइलेंट जोन का परिसर विकसित किया गया है, जहां योगा और ध्यान लगाया जा सकेगा। पर्यटन के नए केंद्र के रूप में विकसित हो रही टेंट सिटी में शाम के समय सैलानियों को गोवा जैसा अहसास होगा। गंगा किनारे लगे बेंच पर सुबह से सनबाथ की सुविधा के साथ ही शाम को डूबते सूरज को निहारने की भी व्यवस्था की गई है।

टेंट सिटी को पर्यावरण के अनुकूल बनाने के लिए नो पॉल्यूशन जोन की नीति का पालन करते हुए बायो टायलेट लगाए जा रहे हैं। टेंट सिटी को नो प्लास्टिक जोन घोषित करते हुए इको फ्रेंडली तैयार किया जा रहा है। किसी प्रकार का कूड़ा बालू क्षेत्र में डंप नहीं होगा। पर्यटकों को पर्यावरण संरक्षण और क्षेत्र में पर्यावरण को ध्यान रखने की जानकारी दी जाएगी। इसके लिए जगह जगह शाइनेज लगाने के अलावा जागरूकता मित्र भी तैनात किए जाएंगे।

नमो घाट अथवा अन्य घाट से टेंट सिटी जाने वाले पर्यटकों के लिए गंगा रेती पर मेटल के बेस पर सड़क मार्ग बनाया गया है। यहां से पर्यटकों की आवाजाही के लिए सजे धजे गोल्फ कार्ट तैयार रहेंगे। पर्यटकों के गंगा रेती पर बनाए बेस पर पहुंचते ही इलेक्ट्रिक वाहन उनकी स्वागत में लगा दिए जाएंगे। पर्यटकों को लेकर इलेक्ट्रिक वाहन उनके गंतव्य तक पहुंचाएंगे।
टें
वाराणसी के पर्यटन क्षेत्र में एक नया मानक टेंट सिटी के रूप में गंगा के उस पार रेत पर बनाया जा रहा है। यहां टेंट में भी 5 स्टार होटलों जैसी सुविधा मिलेगी। बनारस की धार्मिक, आध्यात्मिक और सांस्कृतिक विरासत को दुनिया से रूबरू कराने का ये एक नया प्रयोग है। बनारस की धार्मिक आस्था के अनुसार, सीवेज सिस्टम से लेकर खान-पान तक में विशेष एहतियात बरती जा रही है।

इसे भी पढ़े   जौनपुर में युवक को जलाकर मारने का मामला सामने आया

कार्यदायी संस्था के अधिकारियों के मुताबिक रेत में बसाए जा रहे शहर में पर्यावरण संरक्षण का पूरा ध्यान रखा गया है। यहां हरियाली के लिए गमलों में सजावटी फूलों को लगाया जाएगा। फूलों की देखभाल के लिए कर्मचारियों की तैनाती की जाएगी। टेंट सिटी के मार्ग में गमले लगाए जाएंगे। गर्मी के दिनों में पौधे न सूखे, इसका भी बंदोबस्त किया जाएगा।

टेंट सिटी के भीतर और आसपास के इलाकों में सफाई की जिम्मेदारी नगर निगम उठाएगा। नगर स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एनपी सिंह के अनुसार गंगा तट किनारे रेती पर सफाई के लिए पूरी कार्ययोजना बना ली गई है। इसके एवज में टेंट सिटी लगाने वाली कंपनियों से यूजर चार्ज लिया जाएगा। इसके अलावा जो इलाके बचेंगे, उसकी सफाई नगर निगम अपने संसाधनों से कराएगा।

टेंट सिटी का संचालन करने वाली कंपनी के अधिकारी अमित गुप्ता ने कहा कि टेंट सिटी में डबल स्टोरी कॉटेज को पेंट हाउस के रूप में विकसित किया गया है। हर टेंट से बाहर निकलने पर गंगा के दर्शन की व्यवस्था रखी गई है। पर्यटकों को गंगा तट पर योगा, ध्यान आदि के लिए साइलेंट जोन भी बनाया गया है।

मंडलायुक्त कौशल राज शर्मा ने कहा कि टेंट सिटी में सफाई, सुरक्षा, पेयजल सहित अन्य व्यवस्था को सुनिश्चित कराया जा रहा है। टेंट सिटी का लोकार्पण 13 जनवरी को नियत हुआ है और उद्घाटन के बाद 15 जनवरी से बुकिंग शुरू होगी।

गंगा पार टेंट सिटी काशी में पर्यटकों को आध्यात्मिक अनुभव कराएगी। यहां पर्यटक गंगा आरती के साथ भगवान शिव के दर्शन भी कर सकेंगे। आध्यात्मिक माहौल के लिए यहां इससे जुड़ा संगीत बजेगा और टेंट सिटी में हर विला के बाहर बड़े त्रिशूल भी लगाए जा रहे हैं, जो यहां पर्यटकों को मंदिर का एहसास भी देंगे। इस टेंट सिटी में पर्यटकों के लिए योग सेंटर के अलावा सेंट्रल हॉल, आर्ट गैलरी जैसी कई सुविधाएं हैं

इसे भी पढ़े   अखिलेश, ओवैसी के खिलाफ दाखिल प्रार्थना पत्र निरस्त, भड़काऊ बयानबाजी का लगा था आरोप

रेती में बस रही टेंट सिटी को सभी सुविधाओं से युक्त करने के लिए अस्पताल, फायर स्टेशन, पुलिस चौकी सहित आकस्मिक परिस्थितियों से निपटने के लिए सभी संसाधनों से लैस किया जाएगा। टेंट सिटी परिसर में ही एक कॉटेज में दमकल, जल पुलिस और एनडीआरएफ के जवान 24 घंटे मौजूद रहेंगे। टेंट सिटी के उद्घाटन से पहले बुधवार को मंडलायुक्त कौशल राज शर्मा व पुलिस आयुक्त मुथा अशोक जैन ने शहरी सुविधा से जुड़े सभी विभागों के प्रमुखों के साथ गंगा पार में सज रहे तंबुओं के शहर का निरीक्षण किया।


ख़बर को शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *