बनारस से गुवाहाटी पहुंचा गंगा विलास क्रूज, अब गिनीज बुक में दर्ज होगा नाम!

बनारस से गुवाहाटी पहुंचा गंगा विलास क्रूज, अब गिनीज बुक में दर्ज होगा नाम!
ख़बर को शेयर करे

वाराणसी | प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने बनारस से दुनिया के सबसे लंबे रिवर क्रूज यात्रा की शुरुआत की थी. पीएम ने 13 जनवरी को दुनिया के लक्जरी क्रूज में शुमार ‘एमवी गंगा विलास क्रूज’ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया था. वाराणसी के रविदास घाट से शुरू हुई ये यात्रा 40 दिन बाद 2500 किलोमीटर से ज्यादा का सफर तय कर अब असम के गुवाहाटी पहुंच गई है. इसके साथ गंगा विलास क्रूज ने दुनिया के सबसे लंबी क्रूज यात्रा का रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया है.

क्रूज के डायरेक्टर राज सिंह ने बताया कि दुनिया में अभी जितने भी क्रूज हैं, वो एक रिवर सिस्टम में एक हजार या 800 किलोमीटर तक की ही यात्रा करते हैं. वहीं, गंगा विलास क्रूज के जरिए हम लोगों ने अब तक 2500 किलोमीटर से ज्यादा की यात्रा को तय की है. यह अपने आप में एक रिकॉर्ड है. ये रिकॉर्ड गिनीज बुक में दर्ज हो, इसके लिए भी हम प्रयास करेंगे. क्रूज के डायरेक्टर ने बताया कि बनारस से डिब्रूगढ़ तक यात्रा की पूरी होने के बाद रिकॉर्ड गिनीज बुक के लिए अप्लाई भी कर सकते हैं

शानदार रहा सफर
इसके साथ राज सिंह ने बताया कि अब तक के 40 दिनों का सफर बेहद शानदार रहा है. बनारस से असम के गुवाहाटी तक की यात्रा के दौरान विदेशी मेहमानों ने इस लक्जरी क्रूज में खूब एन्जॉय किया है. साथ ही बताया कि मंगलवार (21 फरवरी) को सारे मेहमान गुवाहाटी में स्थित देवी के शक्तिपीठ कामख्या देवी मंदिर में दर्शन करेंगे. इसके बाद असम के तेजपुर जाएंगे. फिर काजीरंगा नेशनल पार्क के लिए सभी पर्यटक रवाना होंगे.

इसे भी पढ़े   बड़े खतरे की आहट! अध्ययन में दावा- 2100 तक खत्म हो सकते हैं 5 में से 4 ग्लेशियर

ख़बर को शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *