किसी दूसरी महिला का कर दिया अबॉर्शन,वजह-अलग भाषा के कारण समझ नहीं पाए

किसी दूसरी महिला का कर दिया अबॉर्शन,वजह-अलग भाषा के कारण समझ नहीं पाए
ख़बर को शेयर करे

नई दिल्ली। प्राग के एक अस्पताल में एक चौंकाने वाली गलती की वजह से विदेशी महिला का अबॉर्शन हो गया जो वह कभी नहीं चाहती थी। सीएनएन प्राइमा न्यूज के मुताबिक चार महीने की गर्भवती महिला 25 मार्च को बुलोव्का यूनिवर्सिटी अस्पताल में नियमित जांच के लिए पहुंची । अस्पताल ने इस भयानक गड़बड़ी के लिए मरीज और स्टाफ की अलग-अलग भाषा की वजह से पैदा हुई गलतफहमी को जिम्मेदार बताया।

इसके बाद शुरू हुआ गलतियों का एक सिलिसला। अस्पताल के कर्मचारी, जिनमें नर्सें, डॉक्टर, एक स्त्री रोग विशेषज्ञ और यहां तक कि एनेस्थेसियोलॉजिस्ट भी महिला की सही पहचान करने में विफल रहे।

किसी और मरीज की होनी थी सर्जरी
स्वस्थ गर्भवती महिला को एक प्रकार की गर्भाशय सर्जरी और गर्भपात की विधि से गुजराना पड़ा जो किसी दूसरे मरीज के लिए निर्धारित की गई थी। पूरी प्रक्रिया के बाद महिला का गर्भपात हो गया।

क्या कहा जानकारों ने?
चेक मीडिया आउटलेट सेजनाम जप्रावी से बात करते हुए, गायनोकॉलोजिस्ट और चेक मेडिकल चैंबर के उपाध्यक्ष जान प्रादा ने कहा, ‘एक चेक-भाषी मरीज शायद सक्रिय रूप से इस बात का विरोध करता कि वह एक ऐसी प्रक्रिया से गुजरने जा रही है जिसे वह नहीं समझती है।’

चेक सोसाइटी फॉर क्वालिटी इन हेल्थकेयर के अध्यक्ष डेविड मार्क्स ने कहा, कारणों की पहचान करना और एक प्रक्रिया निर्धारित करना लक्ष्य होना चाहिए ताकि ऐसा दोबारा न हो।’

अस्पताल ने क्या कहा?
बुलोव्का की प्रवक्ता ईवा स्टोलेज्दा लिबिगेरोवा ने सीएनएन प्राइमा न्यूज को बताया, ‘अब तक की जांच के अनुसार, संबंधित कर्मचारियों की ओर से आंतरिक नियमों के गंभीर उल्लंघन के चलते, गलत पहचानी गई मरीज पर सर्जिकल प्रक्रिया शुरू की गई थी।’ गड़बड़ी के लिए जिम्मेदार कर्मचारियों को सस्पेंड कर दिया गया है और अस्पताल घटना की जांच कर रहा है।

इसे भी पढ़े   क्या बीजेपी के साथ हाथ मिलाएंगे अजित पवार? चाचा शरद पवार ने दिया जवाब

ख़बर को शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *