पुष्य नक्षत्र,सर्वार्थ सिद्धि योग,गंगा सप्तमी के अद्भुत संयोग में PM मोदी करेंगे नामांकन, कालभैरव बाबा का भी लेंगे आशीर्वाद

पुष्य नक्षत्र,सर्वार्थ सिद्धि योग,गंगा सप्तमी के अद्भुत संयोग में PM मोदी करेंगे नामांकन, कालभैरव बाबा का भी लेंगे आशीर्वाद
ख़बर को शेयर करे

नई दिल्ली। पूरे देश में लोकसभा चुनाव का दौर चल रहा है। कई चरणों का चुनाव हो चुका है और कई चरणों का चुनाव होना बाकी है। इसी बीच देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वाराणसी से चुनाव लड़ने वाले हैं। इसके चलते कल यानी 14 मई को PM मोदी नामांकन दाखिल करेंगे।

गंगा सप्तमी का संयोग
जानकारी के लिए बता दें 14 मई को सुबह 11 बजकर 40 मिनट पर पीएम मोदी नामांकन करेंगे। ज्योतिष शास्त्र की माने तो कल का दिन बेहद खास होने वाला है क्योंकि कल गंगा सप्तमी भी है और इसके अलावा अभिजीत मुहूर्त, आनंद योग, सर्वार्थ सिद्धि योग के साथ भौम पुष्य नक्षत्र का संयोग का निर्माण होने जा रहा है।

चमत्कारी पुष्य नक्षत्र
ज्योतिष गणना के अनुसार पुष्य नक्षत्र की शुरुआत 13 मई यानी आज सुबह 11 बजकर 23 मिनट पर हो गई है। इसकी समाप्ति कल यानी 14 मई को दोपहर 1 बजकर 5 मिनट पर होगा। मान्यताओं के अनुसार ये नक्षत्र काफी चमत्कारी माना जाता है और इसमें किए गए हर काम में सफलता और सिद्धि प्राप्त होती है। मंगलवार के दिन पुष्य नक्षत्र राज सत्ता के संयोग का निर्माण करता है।

आस्था की डुबकी लगाने के बाद करेंगे कालभैरव के दर्शन
पीएम नरेंद्र मोदी कल नामांकन से पहले अस्सी घाट पर स्नान और ध्यान करेंगे। इसके बाद कालभैरव बाबा के दर्शन करेंगे। आपको बता दें कि 2014 और 2019 में अपने नामांकन से पीएम मोदी ने पहले बाबा कालभैरव का दर्शन किए थे। मंगलवार का दिन दर्शन करने के लिए सर्वश्रेष्ठ माना जाता है।

इसे भी पढ़े   किसानों ने माँ अन्नपूर्णा को धान की पहली फसल की अर्पित

लेंगे काल भैरव बाबा की अनुमति
धार्मिक मान्यताओं के अनुसार कालभैरव को काशी का कोतवाल माना जाता है। कहा जाता है कि भैरव बाबा की अनुमति के बिना कोई भी काशीवास नहीं कर सकता है। इसी के चलते नामांकन करने से पहले पीएम मोदी भी कालभैरव बाबा के यहां अनुमति लेने जाएंगे।

सजाई जा रही काशी
पीएम मोदी के नामांकन से पहले आज रोडशो होगा। इसके लिए वाराणसी को भव्य तरीके से सजाया गया है। काशी को सजाने के लिए कई तरह के रंग बिरंगे फूलों का इस्तेमाल किया गया है। इसके अलावा फूल वर्षा के लिए हजारों किलों फूलों को मंगाया गया है।


ख़बर को शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *