हार-जीत बराबर करने में भारत को लग गए 92 साल,579 टेस्ट खेलकर पहली बार हुआ ऐसा

हार-जीत बराबर करने में भारत को लग गए 92 साल,579 टेस्ट खेलकर पहली बार हुआ ऐसा
ख़बर को शेयर करे

नई दिल्ली।’बैजबॉल’ इंग्लैंड का घमंड चूर-चूर करते हुए रोहित शर्मा की कप्तानी में भारत ने अंग्रेजों को बुरी तरह रौंद दिया। इंग्लैंड के सीरीज की शुरुआत जीत के साथ की, लेकिन रोहित शर्मा की युवा सेना ने इसके बाद अंग्रेजों को कोई मौका नहीं दिया और बाकी बचे हुए सारे मैचों में धूल चटाई। भारत ने सीरीज पर 4-1 से कब्ज़ा। धर्मशाला में हुए सीरीज के आखिरी मैच में तो बेन स्टोक्स की टीम मुंह दिखाने लायक ही नहीं बची। रविचंद्रन अश्विन-कुलदीप यादव की फिरकी और भारतीय टॉप ऑर्डर की जबरदस्त बल्लेबाजी के आगे इंग्लैंड ने पूरी तरह से घुटने टेक दिए। इस मैच को भारत ने पारी और 64 रन से अपने नाम किया। इस जीत के साथ ही भारत ने पहली बार टेस्ट इतिहास में अपनी हार-जीत बराबर की।

हार-जीत बराबर
92 और 579 खेलने के भारत ने टेस्ट इतिहास में हार और जीत बराबर कर ली हैं। धर्मशाला में इंग्लैंड को हराकर भारत ने 178वां टेस्ट मैच अपने नाम किया। वहीं, अब तक भारत को इतने ही टेस्ट मैचों में हार भी मिली है। 1932 में भारत ने टेस्ट क्रिकेट खेलना शुरू किया और तब से लेकर अब तक भारत की टेस्ट मैचों में जीतने वाले मैचों की संख्या हारने वाले मैचों से कम ही रही। अब 92 साल बाद भारत ने यह हिसाब बराबर किया है। भारत के टेस्ट रिकॉर्ड्स की बात करें तो टीम ने अब तक 579 टेस्ट मैच खेले हैं, जिनमें 178 जीत और इतनी ही हार शामिल हैं। वहीं, 1 मुकाबला टाई रहा और 222 मैच भारत ने ड्रॉ के साथ खत्म किए।

इसे भी पढ़े   Akhilesh Yadav मुरादाबाद में BJP पर बरसे

1 टेस्ट जीत और…
टेस्ट इतिहास में अब तक 4 ही टीम ऐसी हैं, जिनके नाम हार के ज्यादा जीत दर्ज हैं। इसमें ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, पाकिस्तान और साउथ अफ्रीका शामिल हैं। अगर भारत अपना अगला टेस्ट मैच जीत लेता है तो टीम हार से ज्यादा टेस्ट जीत दर्ज करने वाली टीमों की लिस्ट में शामिल हो जाएगी। ऑस्ट्रेलिया ने अब तक 866 टेस्ट मैच खेले हैं, जिनमें 413 जीत और 232 हार शामिल हैं। इंग्लैंड ने सबसे ज्यादा 1071 टेस्ट मैच खेलते हुए 392 जीत और 324 हार दर्ज की हैं। पाकिस्तान ने अब तक 456 टेस्ट मैचों में 148 जीत और 142 हार दर्ज की हैं। वहीं, साउथ अफ्रीका ने अब तक 464 मैच खेले हैं, जिनमें 178 जीत और 161 हार शामिल हैं।

घर में भारत है शेर
टीम इंडिया ने घर में टेस्ट मैच खेलते हुए गजब ही कर दिया है। टीम 17 टेस्ट सीरीज से अपने घर में अजेय रही है। भारत ने 2012 के बाद से अब तक घर में कोई टेस्ट सीरीज नहीं गंवाई है। इससे पता चलता है कोई भी टीम भारत में आकर टीम इंडिया को आसानी से मात नहीं दे सकती है। इतना ही नहीं, वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के अब तक हुए दो संस्करणों में भारत ने फाइनल में जगह बनाई है। हालांकि, टीम दोनों ही बार खिताबी मैच हार गई थी। टीम इंडिया का घरेलू टेस्ट रिकॉर्ड बेहतरीन है। घर में 289 टेस्ट मैच खेलते हुए भारत ने 117 दर्ज की हैं। वहीं, सिर्फ 55 मैचों में हार मिली है। 115 मैच ड्रॉ रहे हैं, जबकि 1 मैच टाई हुआ है।

इसे भी पढ़े   स्‍कूल कैंपस में 6 साल के मासूम को रौंदा;हंगामा

ख़बर को शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *