प्रधान का शव फंदे से लटकता पाए जाने से सनसनी, महिला का भी लटकता मिला शव,कोहराम,जांच में जुटी पुलिस

प्रधान का शव फंदे से लटकता पाए जाने से सनसनी, महिला का भी लटकता मिला शव,कोहराम,जांच में जुटी पुलिस
ख़बर को शेयर करे

रामगढ़ (सोनभद्र)। जिले में बृहस्पतिवार को प्रधान सहित दो का शव फंदे से लटकता पाए जाने से सनसनी फैल गई। पन्नूगंज थाना क्षेत्र के कसारी गांव में जहां युवा प्रधान का शव रहस्यमय हालातों में लटकता पाए जाने के मामले ने हर किसी को अवाक करके रख दिया। वहीं, राबटर्सगंज कोतवाली अंतर्गत सुकृत पुलिस चौकी क्षेत्र के मधुपुर में एक महिला का शव उसके कमरे में लटकता पाए जाने से कोहराम की स्थिति उत्पन्न हो गई। पुलिस ने दोनों शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेज दिया। दोनों घटनाओं को लेकर तरह-तरह की चर्चा बनी रहीं।

सहज स्वभाव के प्रधान के लटकते मिले शव ने लोगों को कर दिया भौंचक:
पन्नूगंज इलाके में सरल और सहज स्वभाव की पहचान रखने वाले ग्राम पंचायत कसारी के प्रधान अनिल कुमार गुप्ता 38 वर्ष पुत्र मुन्नू गुप्ता निवासी काशीपुरा का उनके कमरे में साड़ी के फंदे से लटकता शव पाए जाने के मामले ने लोगों को चौंका कर रख दिया है। बताया जा रहा है कि बुधवार की रात वह रोजाना की भांति घर आए। खाना खाने के बाद अपने कमरे में सोने चले गए। किसी से कोई विवाद या बहस की स्थिति नहीं बनी। नही, इलाके में ही किसी तरह के किसी विवाद या तनाव की सूचना कहीं से थी, बावजूद बृहस्पतिवार को प्रधान का शव उसके कमरे में फंदे से लटकता पाए जाने के मामले ने हर किसी को एकबारगी सन्न करके रख दिया। प्रभारी निरीक्षक पन्नूगंज केदारनाथ मौर्य ने घर वालों से घटना की जानकारी लेने के बाद शव को पीएम के जिला अस्तपाल भेज दिया।

इसे भी पढ़े   प्रदीप सिंह के मर्डर का मामला,3 शूटर गिरफ्तारआतंकी से जुड़े तार

कहीं लेन-देन से जुड़ा तो कोई मसला नहीं, चर्चाएं जारी:
गांव, परिवार, इलाके में किसी से तनाव भरा विवाद न होने के बावजूद प्रधान का शव किन हालातों में फंदे से लटकता पाया गया। उसने खुदकुशी का रास्ता क्यों अपनाया? जैसी चीजों को लेकर जहां तरह-तरह की चर्चा बनी रही। वहीं, लोगों के बीच इस बात को लेकर भी चर्चा रही कि कहीं इसके धान खरीद व्यवसाय के लेन-देन से जुड़ा मसला तो नहीं?हालांकि परिवार के लोग जहां इस मसले पर कुछ भी बता पाने में असमर्थता जता रहे हैं। वहीं, पुलिस भी घटना के कारणों को लेकर कुछ कहने से परहेज कर रही है। दो भाईयों में बड़े अनिल को दो लड़के और दो लड़कियां हैं। वहीं छोटा भाई ग्राम विकास अधिकारी है, जिसकी कुछ साल पूर्व ही शादी हुई है। एक हंसते-खेलते परिवार पर आखिर ऐसी कौन सी मुसीबत आई कि बात फंदे से लटकने तक पहुंच गई, इसको लेकर तरह-तरहकी चर्चाएं होती रहीं।


ख़बर को शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *