तेलंगाना में शाह का दौरा,2024 से पहले याद दिलाया ‘गुजरात फॉर्मूला’

तेलंगाना में शाह का दौरा,2024 से पहले याद दिलाया ‘गुजरात फॉर्मूला’
ख़बर को शेयर करे

तेलंगाना में शाह का दौरा,2024 से पहले याद दिलाया ‘गुजरात फॉर्मूला’
नई दिल्ली। 2024 के लोकसभा चुनाव को देखते हुए गृह मंत्री अमित शाह के ताबड़तोड़ दौरे शुरू हो गए हैं। कुछ दिन पहले वह भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा के साथ बंगाल के दौरे पर थे,अब तेलंगाना में पार्टी की तैयारियों की समीक्षा की है। वैसे,दक्षिणी राज्यों में भाजपा का जनाधार कम है। वह मंद गति से आगे बढ़ रही है. हाल के विधानसभा चुनावों में तेलंगाना में कांग्रेस ने सरकार बनाई और भाजपा तीसरे स्थान पर रही। शाह ने राज्य में पार्टी के मंडल अध्यक्षों को संबोधित करते हुए ‘गुजरात फॉर्मूले’ की चर्चा की। हां, शाह ने कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ाने के लिए गुजरात का उदाहरण दिया।

कैसे बढ़ा बीजेपी का ग्राफ?
शाह ने कहा कि गुजरात में भाजपा को सबसे बड़ी पार्टी बनने में काफी वक्त लगा। वहां भी पहले भाजपा को महज 10 फीसदी वोट मिलते थे। गुजरात में भाजपा का ग्राफ देखें तो 1995 में पहली बार कांग्रेस और भाजपा के बीच सीधी फाइट हुई. इससे पहले भाजपा गठबंधन पार्टनर के तौर पर होती थी। इससे पहले 1991 के लोकसभा चुनावों में पार्टी को 51 फीसदी वोट मिले थे और 20 सीटें जीतकर भगवा दल ने अपनी ताकत दिखा दी थी। 1995 के चुनाव में भाजपा को 42 पर्सेंट वोट मिले थे। 1960 के दशक से भगवा दल (पहले जनसंघ) अपने लिए सपोर्ट का आधार तैयार कर रहा था। पार्टी शुरू से ही चुनाव लड़ रही थी लेकिन उसका खाता खुला 1967 के चुनाव में। गुजरात में एक सीट मिली। 1972 में गुजरात की तीन सीटें जीत ली गईं। एबीवीपी के मूवमेंट से जनाधार बढ़ता रहा। 1975 के चुनाव में जनता मोर्चा में जनसंघ भी शामिल था,पार्टी ने 18 सीटें हासिल की थीं। बीजेपी बनी तो पहला चुनाव 1980 में लड़ा और उसे केवल 9 सीटें मिल गईं। 1985 में राजीव गांधी के लिए सहानुभूति की लहर के बावजूद पार्टी ने 14 प्रतिशत वोट लेकर 11 सीटें जीतीं।

इसे भी पढ़े   हिटलर की सोने की घड़ी साढ़े आठ करोड़ में नीलाम,विरोध शुरू

तेलंगाना में 10 कमल का लक्ष्य
शाह ने आगे यह भी कहा कि चुनाव में भाजपा की हार के बाद भी मेरे दौरे पर कुछ लोग हैरान हैं। शाह ने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि आपको कड़ी मेहनत करनी है और लोकसभा चुनाव में 10 कमल खिलने चाहिए। तेलंगाना में 17 लोकसभा सीटें हैं। शाह ने तेलंगाना में भाजपा के लिए 10 सीटें जीतने और 35 फीसदी वोट हासिल करने का टारगेट तय किया है। उन्होंने कांग्रेस और बीआरएस को डूबता जहाज बताया।


ख़बर को शेयर करे

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *