Tuesday, July 5, 2022
spot_img
Homeराज्य की खबरेंनरेश पटेल की एंट्री के कयास ने लिखी हार्दिक पटेल के एग्जिट...

नरेश पटेल की एंट्री के कयास ने लिखी हार्दिक पटेल के एग्जिट की पटकथा

Updated on 18/May/2022 1:10:37 PM

गांधीनगर। कांग्रेस से लंबे समय से नाराज चल रहे गुजरात इकाई के कार्यकारी अध्यक्ष हार्दिक पटेल ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने कहा कि अब वह ‘गुजरात के लिए’ कार्य कर पाएंगे। हालांकि, पटेल कांग्रेस से क्यों नाराज थे? इस बात के काम करने के तरीके समेत कई कारण गिनाए जा चुके हैं। खुद पाटीदार नेता भी यह कह चुके हैं उनका ‘उत्पीड़न’ किया जा रहा है। लेकिन इस दौरान पाटीदार नेता नरेश पटेल का नाम भी सामने आता रहा है, जिसके तार पटेल की नाराजगी से जोड़कर देखे जा रहे हैं। अब इस स्थिति को विस्तार से समझते हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कांग्रेस कोडलधाम मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष और मजबूत पाटीदार नेता नरेश पटेल को पार्टी में शामिल करने पर विचार कर रही है। इस बात ने हार्दिक को खासा नाराज किया। पीटीआई के अनुसार, हार्दिक का मानना है कि नरेश के कांग्रेस में आने पर पाटीदार नेता के रूप में उनका दबदबा खत्म हो जाएगा।

एजेंसी को अप्रैल में दिए इंटरव्यू में उन्होंने कहा था, ‘आपने 2017 में हार्दिक का इस्तेमाल किया, आप 2022 में नरेश भाई का उपयोग करना चाहते हैं और 2027 में दूसरे पाटीदार नेता का इस्तेमाल करेंगे। आप हार्दिक का समर्थन और उसे मजबूत क्यों नहीं करते।’ हार्दिक ने कहा था, ‘उन्हें नरेश भाई को लेना चाहिए, लेकिन क्या वे उनके साथ वैसा बर्ताव करेंगे,जैसा मेरे साथ किया था?’

हालांकि,बीते सप्ताह एक अन्य साक्षात्कार में उन्होंने कहा था, ‘अगर मैं जिग्नेश मेवाणी और कन्हैया कुमार के नाम की सिफारिश कर सकता हूं, जो मेरी उम्र के हैं, तो अगर 55-60 साल के नरेश पटेल पार्टी में शामिल होते हैं, तो मुझे क्या दिक्कत होगी?’

लंबे समय से नरेश पटेल को पार्टी में लाना चाहती है कांग्रेस
गुजरात कांग्रेस के अध्यक्ष जगदीश ठाकुर भी नरेश पटेल को पार्टी में शामिल करने की चर्चाओं को स्वीकार चुके हैं। उन्होंने कहा था, ‘कांग्रेस नरेश पटेल का स्वागत करने के लिए तैयार है। फैसला नरेश पटेल को करना है। हमने पहले भी उनके साथ चर्चाएं की हैं और पार्टी में शामिल होने की अपील की है, लेकिन आखिरी फैसला केवल उनका ही होगा।’

हार्दिक ने क्या कहा?
उन्होंने ट्वीट किया, ‘आज मैं हिम्मत करके कांग्रेस पार्टी के पद और पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देता हूं। मुझे विश्वास है कि मेरे इस निर्णय का स्वागत मेरा हर साथी और गुजरात की जनता करेगी। मैं मानता हूं कि मेरे इस कदम के बाद मैं भविष्य में गुजरात के लिए सच में सकारात्मक रूप से कार्य कर पाऊंगा।’

खास बात है कि हार्दिक पहले भी पार्टी नेताओं पर परेशान करने के आरोप लगा चुके हैं। साथ ही उन्होंने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी की तरफ से भी कार्रवाई नहीं करने की बात कही थी। पीटीआई के मुताबिक, उन्होंने कहा था, ‘मुझे इतना परेशान किया जा रहा है कि अब मुझे बुरा लगने लगा है। गुजरात कांग्रेस के नेता चाहते हैं कि मुझे पार्टी छोड़ देनी चाहिए।’

उन्होंने कहा था,’मुझे ज्यादा दुख इसलिए है क्योंकि मैंने कई बार इस स्थिति के बारे में राहुल गांधी को बताया है, लेकिन उनकी तरफ से गुजरात कांग्रेस के नेताओं के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई।’

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -spot_img