आशिकी तक तो ठीक शादी की बात नहीं आई पसंद,पुलिस की गिरफ्त में लेफ्टिनेंट कर्नल का खुलासा

आशिकी तक तो ठीक शादी की बात नहीं आई पसंद,पुलिस की गिरफ्त में लेफ्टिनेंट कर्नल का खुलासा
ख़बर को शेयर करे

उत्तराखंड। कहते हैं कि इश्क और मुश्क छिपाए नहीं छिपता। कभी ना कभी दुनिया के सामने सब कुछ नजर आने लगता है। उत्तराखंड पुलिस ने जब एक शव की बरामदगी की तो शुरुआती दौर में इतना ही पता चला कि वो किसी नेपाली महिला का शव है लेकिन जब जांच आगे बढ़ी तो परत दर परत खुली और हैरान करने वाली जानकारी तब सामने आई जब पुलिस ने सेना में बड़े ओहदे पर तैनात लेफ्टिनेंट कर्नल को गिरफ्तार किया। पुलिस का कहना है कि जब वेस्ट बंगाल के सिलिगुड़ी में एक डांस बार की तस्वीर सामने आई तो जांच की दिशा बदल गई। पुलिस का दावा है कि उसने 24 घंटे के अंदर कत्ल का राजफाश कर दिया।

देहरादून पुलिस ने की गिरफ्तारी
पुलिस के मुताबिक लेफ्टिनेंट कर्नल रामेंदु उपाध्याय की तैनाती क्लीमेंट टाउन कैंटोनमेंट एरिया में है और उनका 30 साल की एक महिला से अवैध संबंध थे। लेफ्टिनेंट पर वो महिला शादी के लिए दबाव बना रही थी। लेफ्टिनेंट ने जब शादी से मना किया तो उसने सार्वजनिक करने की चेतावनी दी और उसकी धमकी ही मौत की वजह बन गई। पुलिस ने आरोपी लेफ्टिनेंट कर्नल को पंडितवारी प्रेम नगर से उनके घर से गिरफ्तार किया।

यह है पूरा मामला
उत्तराखंड पुलिस के मुताबिक पीड़ित महिला श्रेया शर्मा की मुलाकात सिलिगुड़ी के एक डांस बार में हुई थी और दोनों करीब 3 साल तक रिश्ते में रहे। जब लेफ्टिनेंट का देहरादून ट्रांसफर हुआ तो वो श्रेया को अपने साथ लेकर आए। एक फ्लैट किराए पर लिया जहां वो रहती थी। रामेंदु उपाध्याय ने रविवार यानी 10 सितंबर को राजपुर रोड स्थित एक क्लब में पीड़ित के साथ शराब पी। बाद में उपाध्याय ने पीड़ित को लांग ड्राइव पर ले जाने की बात कही जिसे पीड़ित ने स्वीकार कर लिया लेकिन थानो रोड पर पहुंचने के बाद वो एक सूनसान जगह पर गए। अपनी गाड़ी पार्क की और उसके मरने तक हथौड़े से बार बार उसकी सिर पर हमला किया। श्रेया की हत्या के बाद उसके शव को फेंक दिया और अपने घर वापस लौट आए। पुलिस के मुताबिक लेफ्टिनेंट कर्नल पहले से ही शादीशुदा थे।

इसे भी पढ़े   मणिकर्णिका घाट पर हुआ मां का देहांत,तेलंगाना से काशी साइकिल से आया बेटा

ख़बर को शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *