ईरानी राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी की मौत का भारत-ईरान की केमिस्ट्री से लेकर तेल,सोने के भाव पर क्या होगा असर?

ईरानी राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी की मौत का भारत-ईरान की केमिस्ट्री से लेकर तेल,सोने के भाव पर क्या होगा असर?
ख़बर को शेयर करे

नई दिल्ली। हेलीकॉप्टर हादसे में ईरान के राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी और विदेश मंत्री होसैन अमीर अब्दुल्लाहियान की मौत से पूरा देश हैरान है। ईरानी राष्ट्रपति की अचानक मौत के बाद कई सवाल उठने लगे हैं। इस मौत का इस्लामिक गणराज्य की राजनीति से लेकर दूसरे देशों के साथ संबंधों और व्यापार पर असर का आंकलन किया जा रहा है। जानकार अंदाजा लगा रहे हैं कि रईसी की मौत का असर कहां-कहां दिखेगा? एक्सपर्ट की माने तो ईरानी राष्ट्रपति की मौत का असर तेल की कीमत से लेकर सोना और शेयर बाजार तक दिख सकता है। इब्राहिम रईसी की मौत का असर भारत-ईरान के संबंधों पर भी पड़ सकता है।

तेल की कीमतों पर असर
ईरानी राष्ट्रपति की अचानक हुई मौत से अनिश्चितता का माहौल बना हुआ है। ईरानी लीडरशिप को लेकर कोई साफ तस्वीर सामने नहीं आई है। ईरान की कमान किसके हाथों में होगी, इसे लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं है। इस अनिश्चितता का असर ऑयल मार्केट पर दिखने लगा है। निवेशक ईरान के ऑयल प्रोडक्शन और एक्सपोर्ट पर पड़ने वाले संभावित असर का आंकलन कर रहे हैं। इसका असर सोमवार को दिखने लगा। ईरान के राष्ट्रपति के हेलीकॉप्टर के दुर्घटनाग्रस्त होने की खबर के साथ ही सोमवार को एशियाई बाजारों में कारोबार के दौरान तेल की कीमतें बढ़ गई। जानकारों ने रईसी की मौत के बाद तेल की कीमतों पर असर पड़ने की संभावना जताई है। सोमवार को जुलाई में समाप्त होने वाला ब्रेंट ऑयल वायदा कीमत 0.3 फीसदी बढ़कर 84.19 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया तो वहीं क्रूड वायदा 0.2 फीसदी बढ़कर 79.70 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया। वैश्विक स्तर पर माहौल को देखते हुए अनुमान लगाया जा रहा है कि तेल की कीमतों में बड़ी बढ़ोतरी हो सकती है। ईरानी राष्ट्रपति की मौत से तेल सप्लाई चेन पर असर पड़ने की आशंका जताई जा रही है। ईरान एक बड़ा तेल उत्पादक देश है, सप्लाई चेन में बाधा आने से तेल की कीमतों पर असर पड़ सकता है।

इसे भी पढ़े   तेलंगाना में बुर्का विवाद,छात्राओं को एग्जाम हाल में जाने से रोका,मंत्री से हुआ सवाल तो बोले…

सोने की कीमत पर असर
सोना हमेशा से सुरक्षित निवेश के तौर पर जाना जाता है। वैश्विक अस्थिरता के बीच निवेशक सुरक्षित निवेश की ओर आकर्षित होते हैं। सोने की मांग बढ़ने से कीमतों में इजाफा हो सकता है। ईरानी राष्ट्रपति की मौत के बाद सोना अपने ऑल टाइम हाई पर पहुंच गया है । ईरान में स्थिरता आने तक सोने की कीमत बढ़ने की आशंका है।

शेयर बाजार पर असर
ईरानी राष्ट्रपति की मौत का असर शेयर बाजार पर भी दिखेगा। रईसी की मौत से ईरान की राजनीति में आई अस्थिरता और आर्थिक नीतियों को लेकर असमंजस की स्थिति का असर स्टॉक मार्केट पर दिख सकता है। रईसी की मौत का असर ईरान के दूसरे देशों के साथ संबंधों पर भी दिख सकता है।

भारत पर क्या होगा असर
इब्राहिम रईसी जून 2021 में हसन रूहानी की जगह ईरान के राष्ट्रपति चुने गए थे। भारत के साथ रईसी की दोस्ती अच्छी रही। पिछले साल दोनों नेता मिले थे। हाल ही में ईरान ने भारत के साथ चाबहार पोर्ट के लिए दस साल की डील की। इस डील के बाद भारत को चाबहार के संचालन का अधिकार अगले 10 सालों के लिए मिल गया। अमेरिका की नाराजगी के बावजूद भारत ने ईरान के साथ डील को जारी रखा। रईसी के शासनकाल में भारत और ईरान की दोस्ती गहरी होती चली गई। रईसी के बाद अब दोनों देशों के बीच संबंध किस दिशा में जाएंगे, ये देखने वाली बात होगी।


ख़बर को शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *