चकिया आएगी माफिया शाइस्ता! अशरफ की कब्र पर फूल चढ़ाने जैनब भी आज पहुंच सकती है प्रयागराज

चकिया आएगी माफिया शाइस्ता! अशरफ की कब्र पर फूल चढ़ाने जैनब भी आज पहुंच सकती है प्रयागराज
ख़बर को शेयर करे

नई दिल्ली। माफिया अतीक अहमद और उसके भाई अशरफ की हत्या के 40 दिन पूरे हो गए। आज अतीक और अशरफ का चालीसवां है। इस्लाम धर्म की रवायत के मुताबिक चालीसवे के दिन परिवार के सदस्य व अन्य करीबी मृतक की कब्र पर फूल चढ़ाते हैं और फातिहा पढ़ते हैं। मरहूम यानी मृतक के घर पर धार्मिक पाठ का आयोजन होता है। गरीबों व मिसकीनों खाना खिलाया जाता है। भंडारा किया जाता है साथ ही दान भी किया जाता है।

अतीक और अशरफ के परिवार के ज्यादातर सदस्य या तो जेल में है या फिर गिरफ्तारी से बचने के लिए फरार चल रहे हैं। ऐसे में सवाल यह उठता है कि आज चालीसवे के दिन अतीक और अशरफ की कब्र पर कोई फूल चढ़ाने जाएगा या नहीं। हालांकि ये आशंका जताई जा रही है कि अतीक की बीवी शाइस्ता और अशरफ की पत्नी जैनब, गुरुवार को चकिया आ सकती है। शाइस्ता और जैनब के चकिया आने की आशंका के बीच पुलिस और एसटीएफ अलर्ट है। जानकारी के मुताबिक पुलिस सादे कपड़ों में चप्पे-चप्पे पर तैनात है।

पुलिस और एसटीएफ अलर्ट
शाइस्ता और जैनब के चकिया आने की आशंका के बीच पुलिस और एसटीएफ अलर्ट है। जानकारी के मुताबिक पुलिस सादे कपड़ों में चप्पे-चप्पे पर तैनात है। दोनों के चकिया आने के दावों के बीच प्रयागराज पुलिस ने एक ओर जहां सुरक्षा पुख्ता कर दी है तो वहीं महिला पुलिसकर्मियों को बड़ी संख्या में तैनात किया है।

दोनों ही उमेश पाल की हत्या के बाद से फरार हैं। बीते 15 अप्रैल को जब अतीक और अशरफ की पुलिस कस्टडी में हत्या हुई तो उसके बाद माना जा रहा था कि शाइस्ता और जैनब, अपने पतियों को आखिरी बार देखने के लिए कसारी-मसारी कब्रिस्तान तक जा सकती हैं, जिसके मद्देनजर बड़ी संख्या में फोर्स तैनात थी। हालांकि दोनों उस वक्त भी नहीं आई थीं।

इसे भी पढ़े   प्रधान के पति और उसके साथियों ने पुलिस पर की फायरिंग,गड्ढे में छिपकर बचाई जान

15 अप्रैल को प्रयागराज के कॉल्विन हॉस्पिटल में अतीक व अशरफ की हत्या पुलिस कस्टडी में हुई थी। वारदात में शामिल तीन शूटर मौके से ही गिरफ्तार हुए थे।


ख़बर को शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *