डीजल तस्करी के रैकेट पर पुलिस की ब़ड़ी कार्रवाई, 6000 लीटर डीजल लदा टैंकर बरामद,चार गिरफ्तार

डीजल तस्करी के रैकेट पर पुलिस की ब़ड़ी कार्रवाई, 6000 लीटर डीजल लदा टैंकर बरामद,चार गिरफ्तार
ख़बर को शेयर करे

सोनभद्र । सोनभद्र से सटे मिर्जापुर के अहरौरा इलाके में इंडियल आयल से आने वाले बड़े टैंकरों से कटिंग कर डीजल तस्करी का खेल खेलने वाले रैकेट पर पुलिस की बड़ी कार्रवाई सामने आई है। चंद दिनों के भीतर, दूसरी कार्रवाई करते हुए, पुलिस ने 6000 लीटर अवैध डीजल भरा टैंकर पकड़ने के साथ ही, चार को गिरफ्तार कर लिया है। इससे पहले, 2700 लीटर डीजल पकड़े जाने के साथ, एक की गिरफ्तारी की गई। अब पुलिस इस गिरोह के मास्टरमाइंट और सरगना की तलाश में जुट गई है। पूरा मामला चंदौली के अलीनगर आयल डिपो से, बड़े उपभोक्ताओं को सीधी दी जाने वाली डीजल आपूर्ति से जुड़ा बताया जा रहा है। हालांकि पुलिस अभी इस मसले पर जांच के बाद ही, कुछ कहने की बात कह रही है।

चेकिंग के दौरान पकड़ा गया डीजल लदा टैंकर:
एसपी डा. यशवीर सिंह के निर्देश पर मिर्जापुर जिले की सीमा से सटे सुकृत पुलिस चौकी अंतर्गत सोनभद्र की सीमा पर लोकसभा चुनाव के मद्देनजर चेकिंग बैरियर स्थापित किया गया है। इसके जरिए वाहनों की आवाजाही पर कड़ी निगरानी रखी जा रही हैं। बताते हैं कि इसी कडी में रॉबर्ट्सगंज पुलिस की टीम ने चेकिंग के दौरान सुकृत नहर पुलिया के पास से एक टैंकर संदिग्ध हालत में डीजल परिवहन करता पकड़ा गया। तत्काल इस मामले की जानकारी जिला पूर्ति अधिकारी गौरीशंकर शुक्ल को दी गई। उनके निर्देश पर मौके पर पहुंचे पूर्ति निरीक्षक राबर्ट्सगंज प्रदीप तिवारी और उनकी टीम ने मामले की जांच की तो पता चला कि टैंकर में 6000 लीटर लदा हुआ है, जिसके परिवहन के लिए टैंकर चालक के पास कोई वैध परिवहन प्रपत्र मौजूद नहीं है।

इसे भी पढ़े   पति ने अपनी बीवी के लिए 'Wife For Sale' का दिया विज्ञापन,लोग हैरान

तात्कालिक तौर पर इनकी-इनकी पाई गई संलिप्तताः
मामले की जांच और पकड़े गए आरोपियों से पूछताछ के जरिए जो जानकारी सामने आई, उसके आधार पर टैंकर चालक अमृतलाल पुत्र स्व. श्रीलाल निवासी बनुआडीह, तहसील शाहगंज, थाना खुटहन, जौनपुर, वसीम खां पुत्र अज्ञात निवासी बाराडीह, थाना अहरौरा, जिला मिर्जापुर, शाह आलम पुत्र श्री फरजन अली निवासी चितविश्राम थाना अहरौरा, मिर्जापुर, आमिर पुत्र नन्हे खां निवासी चितविश्राम थाना अहरौरा, मिर्जापुर के खिलाफ धारा 3/7 आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955 के तहत माला दर्ज करते हुए गिरफ्तार कर लिया गया। वहीं, मामले में वाहन स्वामी सुजीत यादव पुत्र अज्ञात निवासी घिरौली पटईला चौराहा, थाना खुटहन, जिला जौनपुर और सौरभ कुमार मौर्या पुत्र कमल प्रसाद मौर्य निवासी कटरा मोहल्ला, थाना अहरौरा, जिला मिर्जापुर के खिलाफ भी केस दर्ज कर तलाश शुरू कर दी गई है। प्रभारी निरीक्षक सत्येंद्र कुमार राय के मुताबिक एसआई अरविंद कुमार गुप्ता चौकी प्रभारी सुकृत की अगुवाई वाली टीम ने सभी आरोपियों की गिरफ्तारी की और मामले के खुलासे में अहम भूमिका निभाई।

अहरौरा से लाकर लोहरा स्थित पेट्रोल पंप पर खपाया जा रहा डीजल:
पूर्ति विभाग की पूछताछ में जो जानकारी सामने आई है, उसके मुताबिक डीजल अहरौरा में विभिन्न टैंकरों से कटिंग कर इकट्ठा किया जा रहा है और वहां से उसे टैंकर के जरिए लाकर, लोहरा स्थित अहान फिलिंग स्टेशन पर अनलोड कर दिया जा रहा है। चर्चाओं की मानें तो इस पूरे गिरोह का संचालन अहरौरा निवासी एक समुदाय विशेष के व्यक्ति द्वारा किया जा रहा है। बताया जा रहा है कि एनसीएल और रेलवे के कंज्यूमर डिपो के लिए जो डीजल लाया जाता है, उसी की अहरौरा में कटिंग कर ली जा रही है।

इसे भी पढ़े   दुनिया में कोरोना का खतरा:चीनी दवाइयां बेअसर, झेजियांग में एक दिन में 10 लाख केस

एसटीएफ की छापेमारी के बाद बदल गया तरीका:
बताते चलें कि एसटीएफ की टीम ने पिछले वर्ष शक्तिनगर में छापेमारी कर बड़े कंज्यूमर पंपों के लिए लाए जाने वाले डीजल कटिंग/हाइटेक चोरी का खुलासा किया था। कई की गिरफ्तारी भी हुई थी। बताया जा रहा है कि इसके बाद कटिंग की रणनीति बदल दी गई और अब डीजल अहरौरा की घाटी या कस्बे के आस-पास ही उतारकर, विभिन्न पेट्रोल पंपों के माध्यम से खपाया जा रहा है। इससे पहले भी इस तरह के मामले सामने आ चुके हैं लेकिन आयल कंपनी के जिम्मेदारों की चुप्पी और ऐसे पंप संचालकों के खिलाफ कोई कार्रवाई न होने से, यह खेल पकड़े जाने के बाद भी प्रतिवर्ष एक नए तरीके से, जारी है।


ख़बर को शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *