आतंकी खोजने इमरान खान के घर गई थी पुलिस,बिस्कुट और पानी के साथ वापस लौटी-पूर्व PM का सुरक्षा अधिकारी

आतंकी खोजने इमरान खान के घर गई थी पुलिस,बिस्कुट और पानी के साथ वापस लौटी-पूर्व PM का सुरक्षा अधिकारी

नई दिल्ली। पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री के मुख्य सुरक्षा अधिकारी ने शुक्रवार को कहा कि कथित तौर पर छिपे हुए ‘आतंकवादियों’ को गिरफ्तार करने के लिए इमरान खान के ज़मान पार्क निवास पर तलाशी अभियान चलाने वाली पंजाब पुलिस केवल ‘पानी और बिस्कुट’लेकर लौटी है।

डॉन अखबार के मुताबिक लाहौर के आयुक्त मुहम्मद अली रंधावा,लाहौर के उपायुक्त राफिया हैदर,डीआईजी ऑपरेशंस सादिक डोगर और एसएसपी ऑपरेशंस सोहैब के एक प्रतिनिधिमंडल ने पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) पार्टी के अध्यक्ष खान से बातचीत के लिए मुलाकात की। यह मुलाकात पंजाब पुलिस द्वारा खान के आवास पर विस्तृत तलाशी लेने के लिए वारंट प्राप्त करने के घंटों बाद हुई।

‘पुलिस खाली हाथ लौटी है’
रिपोर्ट के मुताबिक हालांकि, खान के मुख्य सुरक्षा अधिकारी इफ्तिखार घुमन ने कहा कि पंजाब पुलिस ज़मान पार्क से ‘खाली हाथ’ लौटी है।

खान के आवास के बाहर पत्रकारों से बात करते हुए घुमन ने कहा,‘मुझे लगता है कि वे समझ गए हैं कि यहां कुछ भी नहीं है। यहां उन्हें केवल पानी और बिस्कुट ही मिले। ‘उन्होंने कहा,‘हमने तुम्हारे सामने उनके लिए घर के दरवाज़े खोल दिए। अब आप उनसे पूछिए कि उन्हें क्या मिला।’

पंजाब सरकार का दावा खान के घर में छिपे हैं आतंकी
बता दें बुधवार को, पंजाब सरकार ने दावा किया था कि ‘30 से 40 आतंकवादी खान के आवास के अंदर छिपे हुए हैं। सरकार ने खान की पार्टी पीटीआई को बदमाशों को सौंपने के लिए 24 घंटे का अल्टीमेटम दिया था। हालांकि,गुरुवार को समय सीमा समाप्त होने के बाद कोई कार्रवाई नहीं की गई।

इसे भी पढ़े   बहुत ही क्रांतिकारी!आखिरकार कैंसर की दवा वैज्ञानिकों ने खोज ली,9 साल की बच्ची से मिली मदद

इस बीच, लाहौर कैपिटल सिटी पुलिस अधिकारी बिलाल सद्दीक काम्याना ने खान के ज़मान पार्क निवास से भागने की कोशिश कर रहे छह और ‘आतंकवादियों’’को गिरफ्तार करने का दावा किया।

खान को इस मामले में मिली गिरफ्तारी से राहत
इस बीच शुक्रवरा को आतंकवाद रोधी अदालत ने पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी (पीटीआई) के अध्यक्ष इमरान खान (70) को आतंकवाद से जुड़े तीन मामलों में दो जून तक गिरफ्तारी से राहत प्रदान करते हुए जांच में सहयोग करने का निर्देश दिया।

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *