कौन था अतीक का छठा बेटा? ‘हिंदू लड़कों को देता था मुस्लिम नाम और फिर…’,कालिया का बड़ा खुलासा

कौन था अतीक का छठा बेटा? ‘हिंदू लड़कों को देता था मुस्लिम नाम और फिर…’,कालिया का बड़ा खुलासा
ख़बर को शेयर करे

लखनऊ। माफिया अतीक अहमद की हत्‍या के बाद रोज उससे जुड़े नए-नए खुलासे हो रहे हैं। नया खुलासा हाल ही में करेली पुलिस के हत्थे चढ़े अतीक के गुर्गे असाद कालिया ने किया है। असाद ने पुलिस को बताया कि अतीक अपने गुर्गों को बेटा कहकर बुलाता था। यही वजह थी कि अतीक के गुर्गे उसके एक इशारे पर जान देने को तैयार हो जाते थे। असाद कालिया ने बताया कि अतीक हिंदू लड़कों को मुस्‍लिम नाम देता था और फिर कहता था कि तुम मेरे छठे बेटे हो। आपको बता दें कि अतीक के 5 बेटे हैं और ऐसा कहकर वो गुर्गों को अपना बेहद करीबी बताने की कोशिश करता था।

असाद कालिया ने पुलिस को बताया कि जिस शूटर ने उमेश पाल पर पहली गोली चलाई थी उसका नाम विजय था। जब उसने अतीक का गैंग ज्‍वाइन किया था तो माफिया ने उसका नाम उस्‍मान रख दिया और उसे बेटा कहने लगा। वो कहता था कि मेरे पांच बेटे नहीं बल्‍कि 6 बेटे हैं। अतीक उस्‍मान को बिल्‍कुल बेटे की तरह रखता था।

अतिक के लिए लोगों को धमाकाना और प्‍लॉट खाली कराना था असाद का काम
असाद उर्फ असद पुत्र मो. अफाक न्यू चकिया खुल्दाबाद का रहने वाला है। अतीक के कहने पर वह लोगों की जमीन कब्जाने व उन्हें सस्ते दामों में खरीदने और फिर उऊंची कीमत लेकर बेचने का काम करता था। अतीक के लिए उसने हजारों बीघा जमीन पर उसने अवैध प्लाटिंग भी की थी। खुद के साथ ही जरूरत पड़ने पर वह मोबाइल से जेल में बंद माफिया अतीक से बात कराकर भी लोगों में अपना खौफ कायम करता था।

इसे भी पढ़े   आवास दिलाने के बहाने आदिवासी महिला से गैंगरेप, अधिकारी से मिलवाने के बहाने ले जाकर किया दुष्कर्म, एफआईआर का आदेश

असाद कालिया पर दर्ज हैं 8 मुकदमे
असाद पर विभिन्न थानों में कुल आठ मुकदमे दर्ज हैं। इनमें हत्या का प्रयास, रंगदारी मांगना, अवैध खनन, सरकारी कार्य में बाधा समेत अन्य धाराओं के मुकदमे शामिल हैं। करेली में प्रॉपर्टी डीलर जीशान उर्फ जानू पर जानलेवा हमले करने के मामले में वह अतीक व अली संग नामजद था। 31 दिसंबर 2021 में यह घटना हुई थी और वह तब से फरार चल रहा था। 19 अप्रैल को उसे गिरफ्तार कर लिया गया था।


ख़बर को शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *