अफसर ने 1 लाख के मोबाइल के लिए डैम का 21 लाख लीटर पानी बहाया

अफसर ने 1 लाख के मोबाइल के लिए डैम का 21 लाख लीटर पानी बहाया
ख़बर को शेयर करे

कांकेर | छत्तीसगढ़ के कांकेर में 1 लाख रुपये के मोबाइल (Mobile) के लिये एक अफसर पर 21 लाख लीटर पानी बहाने का आरोप है, जिससे डेढ़ हजार एकड़ के खेत में सिंचाई हो सकती थी. कांकेर जिले के पखांजुर में खेरकट्टा परलकोट जलाशय के ओवर फ्लो में फूड ऑफिसर का एक लाख कीमत का मोबाइल (Mobile) गिर गया. इसके बाद उसे खोजने स्थानीय लोग पानी में उतरे जब फोन नहीं मिला तो 3 दिनों तक 30 एचपी के 2 डीजल पम्प लगाकर पानी को खाली किया गया फिर फोन को निकाला गया. कोयलीबेड़ा ब्लॉक के फूड ऑफिसर राजेश विश्वास सोमवार को छुट्टी मनाने खेरकट्टा परलकोट जलाशय पहुचे थे, जहां उनका फोन खेरकट्टा परलकोट जलाशय में ओवर फ्लो होकर बहने वाले पानी में गिर गया.

वहां 15 फीट तक लबालब पानी भरा हुआ था. पानी निकालने के लिए तीन दिनों से लगातार 30 एच पी का पंप लगा रहा.सोमवार शाम पंप चालू किए गए, जो गुरुवार तक चले. शिकायत मिलने पर सिंचाई अफसर मौके पर पहुंचे और पानी निकालना बंद करवाया, लेकिन तब तक स्केल वाय से 6 फीट पानी निकल चुका था. यह तकरीबन 21 लाख लीटर होता है. यहां गर्मी में भी 10 फीट से अधिक पानी रहता है जिससे आसपास रहने वाले जानवर भी पानी पीते हैं.

इस संबंध में फूड इंस्पेक्टर राजेश विश्वास ने बताया कि सेल्फी लेते वक्त उनका फोन फिसल कर गिर गया था. गोताखोरों की कोशिश के बाद भी फोन नहीं मिला तो जल संसाधन के एसडीओ ने उन्हें कहा कि इस पानी का इस्तेमाल नहीं होता तो पानी को बाहर निकाला गया. हालांकि जल संसाधन विभाग के अनुविभागीय अधिकारी राम लाल ढिवर ने स्थानीय पत्रकारों को बताया कि 5 फीट तक पानी को खाली करने की इजाज़त मौखिक तौर पर दी गई थी लेकिन उससे ज्यादा पानी बहा दिया गया. हालांकि 3-4 दिनों तक गहरे पानी में रहने की वजह से फोन चालू नहीं हो पाया है.

इसे भी पढ़े   धर्म बदलकर किया प्रेम विवाह: अब घरवाले दे रहे जान से मारने की धमकी, युवती ने पुलिस से लगाई सुरक्षा की गुहार

बीजेपी नेता ने की अधिकारी को बर्खास्त करने की मांग
भाजपा महामंत्री ओपी चौधरी ने लाखों लीटर पानी बहाने वाले खाद्य अधिकरी को बर्खास्त करने की मांग की है. महंगे मोबाइल के लिए खाद्य अधिकारी के द्वारा जलाशय खाली कराने को गलत बयाया है. उन्होंने प्राकृतिक संसाधन के दोहन का आरोप लगाया है.


ख़बर को शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *